Home / लाइफस्टाइल / आपका सुस्त लाइफ स्टाइल नुक़सान पहुंचा सकता है फिटनेस को

आपका सुस्त लाइफ स्टाइल नुक़सान पहुंचा सकता है फिटनेस को

अगर ऑफिस में हम काम के साथ-साथ व्यायाम भी करें तो शरीर में फूर्ति बनी रहेगी। सुस्त लाइफ स्टाइल फिटनेस को नुकसान पहुंचा सकती है। इसलिए कामों के बीच ध्यान रखें कि आपको व्यायाम करने का मौका मिल सके।फिटनेस के विशेषज्ञ गौरव डावर ने कार्यस्थल पर किए जाने वाले कुछ हल्के-फुल्के तौर के व्यायाम भी बताए हैं।

-चलते-फिरने रहने या सीढियों पर उतरतेे-चढते रहने का प्रयास कीजिए। इससे आपके पैरों की नसें काम करती रहेगी।

-अपनी एडियों को उठाकर फिर इन्हें धीरे-धीरे जमीन पर वापस रखें।

-अपनी कुर्सी में उठते-बैठते रहने का व्यायाम करीब एक वक्त पर 10 बार कीजिए।

-काम के दौरान कार्यस्थल पर जम्पिंग जैक व्यायाम करने का प्रयास कीजिए, जिससे आपका शरीर आरामदेह स्थिति में आ सके।

-बैठे रहने के दौरान अपने पैरों के पंजों को हिलाने का प्रयास कीजिए।

-कुर्सी पर बैठे रहने के दौरान आप अपने पैरों को थोडी-थोडी देर पर जमीन से उठाते रहिए।

-कुर्सी पर ही बैठे रहने के दौरान अपने बाएं पैर को थोडा ऊपर उठाएं और इसे 90 डिग्री के कोण की तरह कुछ वक्त तक हवा में रहने दें।

-अपने एक पैर को कुर्सी पर बैठे रहने के दौरान उठाएं और फिर ऐसा ही दूसरे पैर के साथ कीजिए

– अपने कंधों को जितना हो सके, उतना ऊंचा उठाएं और इसके बाद इन्हें आगे-पीछे कर हिलाने का प्रयास कीजिए। इस व्यायाम को दिन में लगभग दस बार कीजिए।

-टाइपिंग करने के दौरान आपको जब भी अपनी उंगलियों में एक वक्त पर दर्द महसूस हो, उस दौरान अपने पंजों को खोलें और बंद कीजिए।

-काम करते रहने के दौरान अपनी गर्दन को 360 डिग्री के कोण पर घुमाएं और साथ ही नीचे-ऊपर भी कीजिए।

Loading...
Loading...