Tuesday , September 18 2018
Home / लाइफस्टाइल / कार से मंहगी है नंबर प्लेट, न सोना न डायमंड ये है असली वजह

कार से मंहगी है नंबर प्लेट, न सोना न डायमंड ये है असली वजह

दुनिया में एक से एक घटनाएं होती हैं. कई घटनाएं जहां बेहद सामान्य होती हैं तो कुछ घटना बेहद चौंकाने वाली होती हैं. आज हम आपको एक ऐसी ही चौंकाने वाली घटना बताने जा रहे हैं. जिसको सुनकर शायद आप इसे मजाक समझेंगे, लेकिन ये सच है. दरअसल ब्रिटेन में एक कार की नबंर प्लेट करोड़ों में बिक रही है. न तो ये सोने की है और न ही डायमंड की, तो ऐसा क्या है इस नंबर प्लेट में जो इसकी कीमत करोड़ों में है. आइए हम आपको इसका राज बताते हैं.

132करोड़ की नंबर प्लेट

दरअसल यूके में F1 नंबर को बेचा जा रहा है. F1 नंबर को शान की बाद माना जाता है. और ज्यादातर मर्सिडीज मैक्लेरेन एसएलआर बुगाटी वेरॉन और कस्म रेंजरोवर जैसी कारों पर ही लगाया जाता है. इससे पहले 2008 में ये नंबर प्लेट 4 करोड़ रुपये की बिकी थी जो 1904 से ऐक्सेस सिटी काउंसिल के मालिकाना हक में थी.

विदेशों में है नंबर प्लेट का क्रेज

F1 नंबर की इस प्लेट के फिलहाल मालिकाना हक रखने वाले अफजल खान कारों को कस्टमाइज करने की स्पेशलाइज्ड फर्म खान डिजाइन के मालिक हैं. फॉर्मुला वन का छोटा नाम F1 होता है और यूनाइटेड किंगडम के साथ दुनियाभर में इस नंबर को काफी पसंद किया जाता है. इसके साथ ही इसके इतने महंगे होने का कारण इसका सिर्फ 2 अंकों में होना है. अगर ये बिक जाती है तो ये दुनिया की सबसे महंगे दाम पर बिकने वाली नंबरप्लेट हो जाएगी.

पिछले साल नंबर 1 वाली प्लेट करोड़ों में बिकी थी

खान ने खुद यह नंबर प्लेट एक साल पहले 10.52 करोड़ रुपए में खरीदी थी. विज्ञापन में लिखा गया है कि कार की प्लेट की कीमत 110 करोड़ रुपए ही है, लेकिन 20 फीसद वैट और ट्रांसफर फीस जोड़ने के बाद इसकी कीमत 132 करोड़ रुपए हो गई है. ब्रिटेन में नंबर प्लेट का मालिकाना हक लोगों का होता है, लिहाजा वे इसे बेच सकते हैं या उसकी बोली लगा सकते हैं. अब तक यह रिकॉर्ड दुबई में बिकी डी5 प्लेट के नाम दर्ज है, जो 67 करोड़ रुपए में बिकी थी और इसे भारत के बलविंदर साहनी ने खरीदा था. इसके अलावा ‘1’ नंबर वाली प्लेट साल 2008 में 66 करोड़ रुपए में बिकी थी.

Loading...
loading...
Loading...