Home / लेटेस्ट न्यूज़ / विप्रो ने माना की कर्मचारियों के खाते में हुई गड़बड़ी

विप्रो ने माना की कर्मचारियों के खाते में हुई गड़बड़ी

विप्रो ने माना की उसके कुछ कर्मचारियों के खाते खाते एक फिशिंग अभियान की चपेट में आ गए थे। ऐसे खातों को कोई नुकसान न हो, इसके लिए जरूरी कदम उठाए गए हैं। मामले की जांच के लिए कंपनी एक स्वतंत्र फॉरेंसिक टीम की मदद भी ले रही है। वित्त वर्ष 2019 चौथी तिमाही में विप्रो की आईटी सर्विसेस से होने वाली आय 0.5 फीसदी घटकर 14,586.5 करोड़ रुपये रही है।

KrebsOnSecurity ने कहा कि विप्रो के सिस्टम में सेंध लगाई गई है और उसका इस्तेमाल उसके कुछ क्लाइंट के खिलाफ साइबर हमले के लिए किया जा रहा है। प्रभावित होने वाले लोगों की पहचान की गई है और प्रभावों को खत्म करने के लिए कदम उठाए गए हैं।

Loading...
Loading...