Thursday , September 24 2020
Home / लेटेस्ट न्यूज़ / पाकिस्तान को प्राथमिकता देना जारी रखेंगे: चीन

पाकिस्तान को प्राथमिकता देना जारी रखेंगे: चीन

गुरुवार को अपने एक बयान में चीन ने कहा कि वह पाकिस्तान के साथ अपने प्रगाढ़ संबंधों को और अधिक मजबूती प्रदान करेगा। पड़ोस की कूटनीति में पाकिस्तान उसके लिए प्राथमिकता है। चीन का कहना है कि दोनों सहयोगी देशों के राजनयिक संबंधों की स्थापना के 69 वर्ष पूरे हो चुके है। बता दे भारत के बीजिंग के साथ राजनयिक संबंध स्थापित करने के एक साल पश्चात पाकिस्तान ने सन 1951 में चीन को मान्यता दी थी।

1950 में भारत एशिया का पहला गैर-कम्युनिस्ट देश बना था जिसने चीन के साथ राजनयिक संबंध स्थापित किये। भले ही इस्लामी गणराज्य पाकिस्तान के चीन के साथ राजनयिक संबंध देर से स्थापित हुए लेकिन वह कम्युनिस्ट चीन का सबसे करीबी सहयोगी देश बनकर उभरकर सामने आया है। चीन ने पिछले कुछ समय में 60 बिलियन अमेरिकी डॉलर पाकिस्तान को देकर दोनों देशों के बीच आर्थिक गलियारे के साथ अपने संबंध और अधिक मजबूत किये है।

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन ने चीन और पाकिस्तान के राजनयिक संबंधों की 69 वीं वर्षगांठ पर बधाई दी और कहा कि भविष्य में हम पाकिस्तान को अपने पड़ोस की कूटनीति में प्राथमिकता देना जारी रखेंगे। उन्होंने भविष्य में दोनों देशों के बीच संबंधों के बढ़ने पर भरोसा जताया।

यह भी पढ़े: पाकिस्तान को दिए जा रहे कर्ज पर अमेरिका ने चीन को चेताया, कहा- यह अनुचित और उत्पीड़क
यह भी पढ़े: कंपनियों के देश छोड़ने पर बिलबिलाया चीन, कहा-वैश्विक मैन्यूफैक्चरिंग हब बनने का भ्रम न पाले भारत

Loading...