Breaking News
Home / भारत / व्हाट्सएप ने नई निजता नीति का किया बचाव, कहा-ग्राहक प्लेटफॉर्म छोड़ सकता है

व्हाट्सएप ने नई निजता नीति का किया बचाव, कहा-ग्राहक प्लेटफॉर्म छोड़ सकता है

व्हाट्सएप ने दिल्ली हाईकोर्ट के सामने अपनी नई निजता नीति को लेकर अड़ियल रुख अपना लिया है। कंपनी ने दावा किया है कि उसके प्लेटफॉर्म के जरिये होने वाली बातचीत बिल्कुल सुरक्षित रहेगी। ऐसे में कोई भी ग्राहक नई नीति मानने के लिए बाध्य नहीं है। इसके लिए उसके पास प्लेटफॉर्म छोड़ने और ऐप को मोबाइल से हटाने का विकल्प मौजूद है। बता दे व्हाट्सएप की नई निजता नीति के खिलाफ दाखिल जनहित याचिका पर 17 मई को कोर्ट में सुनवाई होनी है।

सुनवाई से पहले ही व्हाट्सएप ने अपना जवाब कोर्ट में दाखिल किया है। जिसमें उसने कहा है कि वह अपने ग्राहकों से पूछकर ही उनके डाटा का उपयोग करेगा, जबकि कई एप ग्राहक को जानकारी दिए बिना ही उसके डाटा का व्यवसायिक उपयोग कर रहे है। उसकी नीति किसी व्यक्ति के निजी मामलों पर असर नहीं डालेगी। यूजर्स की व्यवसायिक, व्यक्तिगत या पारिवारिक, हर तरह की बातचीत पूरी तरह सुरक्षित रहेंगी। जानकारी सार्वजनिक नहीं होगी।

कंपनी ने जवाब में कहा है कि वह किसी भी यूजर्स को उसकी नीति मानने के लिए मजबूर नहीं कर रहा है। साथ ही कंपनी ने यह भी स्पष्ट किया है कि वह कानूनी रूप से किसी ग्राहक को अपनी सेवा देने के लिए बाध्य नहीं है। ग्राहक चाहे तो उसका प्लेटफार्म छोड़ सकता है और व्हाट्सएप को अपने मोबाइल से हटा सकता है। दूसरी तरफ केंद्र सरकार का कहना है कि हमारे मंत्रालय के नियम-कानून व्हाट्सएप की नई नीति से मेल नहीं खाती।

यह भी पढ़े: सरकार ने मिशन कोविड सुरक्षा के तहत कोवैक्सीन के उत्पादन क्षमता बढ़ाने में दी सहायता
यह भी पढ़े: ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेनें अब हर दिन लगभग 800 एमटी लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन पूरे देश में पहुंचा रही हैं