Monday , September 16 2019
Breaking News
Home / लाइफस्टाइल / हरी घास पर चलने से आंखों की रोशनी होती है तेज

हरी घास पर चलने से आंखों की रोशनी होती है तेज

वर्तमान समय में में आंखों से कई सारे लोग बहुत परेशान हैं। बड़े तो बड़े छोटे बच्चे भी इस समस्या का गंभीर रूप से शिकार हुए हैं। दूषित वातावरण, धूल-मिट्टी, पूरे दिन टीवी, मोबाइल और कंप्यूटर के सामने बैठे रहना ये कुछ ऐसी चीजें हैं जो हमारी आंखों को बहुत गहरी नुकसान पहुंचाती हैं। जिसके कारण आंखों में दर्द, जलन और चुभन जैसी समस्या से हम ग्रसित हो जाते हैं। आइए जानते हैं आंखों में जलन के उपाय यानि आंखों में जलन से कैसे छुटकारा पाएं।

बेहद गुणकारी हैं खीरे का पानी, हर रोज पीये!

सुबह-सुबह नंगे पांव ओस पड़ी हरी घास पर चलने से आंखों की रोशनी तेज होती है।

सबसे पहले ध्यान के आसन में बैठ जाएं। फिर 6 से 7 मीटर दूर रखी किसी चीज को एक टक देखते रहें। इस तरह से ध्यान लगाने से चुभती हुई आंखों को आराम मिलता है।

यह तरीका बहुत ही पुराना है। दोनों हाथेलियों को आपस में 10 से 15 मिनट रगड़े और उसके बाद हल्के से दोनों

हाथों को आखों के ऊपर रखें। इससे आंखों को तुरंत आराम मिलेगा।

अगर कंप्यूटर, लेपटॉप या मोबाइल के सामने हों तो हर 3 से 4 सेकेंड बाद पलकों को झपकाते रहिए। ऐसा करने से आंखों की कसरत होगी जिससे आराम मिलेगा।

दस बार आंखों को ऊपर-नीचे, दस बार आंखों को दाएं-बाएं तथा दस बार वृत्ताकार घुमाने से आंखों की अच्छी मालिश होती है और इससे आंखों पर पड़ने वाला तनाव भी कम होता है।

हर रोज चलिए घास पर नंगे पैर, फिर देखें फायदे!

आंखों की जलन को दूर करने के लिए विटामिन ‘ए’ का महत्वपूर्ण योगदान रहता है। इसलिए गाजर, आम, पपीता, आजवाइन, रसदार फल, दूध और मक्खन का प्रयोग करना चाहिए।

आंखों को आराम देने के लिए सात से आठ घंटा नींद लीजिए।

Loading...
Loading...