Breaking News
Home / भारत / लॉकडाउन खुलते ही जून में ट्रक मालभाड़ा में 14 फीसदी तक बढ़ा

लॉकडाउन खुलते ही जून में ट्रक मालभाड़ा में 14 फीसदी तक बढ़ा

राज्यों के कड़े लॉकडाउन को चरणबद्ध तरीके से खोलने के बाद पिछले एक पखवाड़े के दौरान ज्यादातर प्रमुख मार्गों पर ट्रक मालभाड़े में तेजी से बढ़ोतरी हुई है । नई दिल्ली स्थित एक थिंक टैंक इंडियन फाउंडेशन ऑफ ट्रांसपोर्ट रिसर्च ऐंड ट्रेनिंग (आईएफटीआरटी) के ताजा आंकड़ों के मुताबिक ज्यादातर थोक माल के फैक्टरी उत्पादन में बढ़ोतरी और पिछले साल के निम्न आधार की वजह से मालभाड़े की दरें देश में औसतन 14 फीसदी बढ़ी हैं ।

आईएफटीआरटी ने कहा कि डीजल की कीमतें 2.60 रुपये प्रति लीटर बढ़कर 87.50 रुपये प्रति लीटर (दिल्ली-एनसीआर को छोड़कर) हो गई हैं, जो पिछले साल इस समय 85.01 रुपये प्रति लीटर थीं। इसके साथ ही बाजार में ट्रकों के टायरों की कीमतें भी 6 से 8 फीसदी बढ़ी हैं। इन दोनों की लागत का ट्रकों की  लागत में 90 फीसदी हिस्सा होता है।

टीसीआई सप्लाई चेन के चेयरमैन जसजित सेठी ने कहा कि हालात सामान्य होने में थोड़ा वक्त लगेगा। उन्होंने कहा, ‘लॉकडाउन की वजह से उद्योग और खुदरा कारोबार दोनों प्रभावित हुआ है और वाहनों की आवाजाही पर भी असर पड़ा है जिसकी वजह से मालभाड़े में 5 से 20 फीसदी का इजाफा हुआ है। इसके साथ ही ईंधन की बढ़ती कीमत और ग्रामीण इलाकों में कोरोना के प्रसार से ड्राइवरों की कमी की भी समस्या है।’

मालभाड़ा बढऩे से ट्रक मालिकों को डीजल की कीमतों में तीव्र वृद्घि से थोड़ी राहत मिल सकती है। इसके साथ ही कारखानों का उत्पादन बढऩे से वाहन बेड़ों की मांग भी बढ़कर 65 फीसदी हो गई है जो पिछले महीने 45 से 50 फीसदी थी।

यह भी पढ़े-

दिल्ली सरकार कोरोना के तीसरी लहर के मद्देनजर 5,000 स्वास्थ्य सहायक तैयार करेगी