Wednesday , January 22 2020
Home / भारत / 8 जनवरी को देश की ट्रेड यूनियन ने राष्ट्रव्यापी हड़ताल का किया ऐलान

8 जनवरी को देश की ट्रेड यूनियन ने राष्ट्रव्यापी हड़ताल का किया ऐलान

देश के प्रमुख ट्रेड यूनियन कमेटी ने 8 जनवरी को  हड़ताल का एलान किया है। ट्रेड यूनियन का दावा है कि इस हड़ताल में 25 करोड़ लोग शामिल होंगे। ट्रेड यूनियन इंटक, एटक,  एचएमएससीटू, यूटीयूसी, एसईडब्ल्यू, एलपीएफ, सहित और कई अन्य महत्वपूर्ण संघ और फेडरेशन 2019 सितंबर में ही 8 जनवरी 2020 को हड़ताल करने की घोषणा कर चुके हैं।

10 महत्वपूर्ण केंद्रीय ट्रेड यूनियन ने संयुक्त रूप से कहा था कि 8 जनवरी को आम हड़ताल किया जाएगा। जिसमें 25 करोड़ से अधिक लोगों की भागीदारी ट्रेड यूनियन के द्वारा उम्मीद की जा रही है।

इस हड़ताल का महत्वपूर्ण मुद्दा श्रमिक विरोधी, राष्ट्र विरोधी और जनविरोधी, सरकारी नीतियों को वापस लेने की मांग से लेकर है। यूनियन की तरफ से आए बयान में यह भी कहा गया कि श्रम मंत्रालय अब तक श्रमिकों को किसी भी मांग पर आश्वासन नहीं दे पाया है।

ज्ञात सूत्रों के अनुसार छात्र संघ के 60 से अधिक संगठन और कुछ विश्वविद्यालय की प्रमुख पदाधिकारियों ने भी हड़ताल में शामिल होने का फैसला किया है। उनका मुद्दा बढ़ी हुई फीस, शिक्षा व्यवस्था में व्यवसायीकरण के विरोध को लेकर है।

ट्रेड यूनियन ने जेएनयू में हिंसा और अन्य विश्वविद्यालय परिसर पर होने वाली घटनाओं की कड़ी आलोचना की और देश भर में छात्र और शिक्षकों को समर्थन देने की घोषणा भी की है।

यूनियन को सरकार से इस बात पर नाराजगी है कि जुलाई 2015 से लेकर अब तक एक भी भारतीय श्रम सम्मेलन का आयोजन सरकार के द्वारा नहीं हुआ है। इसके अलावा है यूनियन ने श्रम कानून की संहिता बनवाने और सार्वजनिक उपक्रमों के निजीकरण का भी खुलकर विरोध किया है।

Loading...
Loading...