Breaking News
Home / लाइफस्टाइल / ये पदार्थ हैं जिम्मेदार ब्रेस्ट कैंसर के लिए

ये पदार्थ हैं जिम्मेदार ब्रेस्ट कैंसर के लिए

ब्रेस्ट कैंसर के मामलों में लगातार वृद्धि हो रही है। इस घातक बीमारी से बचने के लिए अभी भी कारगर तरीका ईजाद नहीं किया जा सका है। इस दिशा में अब ऑस्ट्रेलियाई वैज्ञानिकों ने महत्वपूर्ण सफलता हासिल की है। उन्होंने ब्रेस्ट कैंसर के लिए जिम्मेदार प्रोटीन की पहचान करने का दावा किया है।

शोधकर्ताओं ने बताया कि मौजूदा उपचार में डॉक्टर इस प्रोटीन को विशेष तौर पर टारगेट नहीं करते हैं। इससे यह समस्या जड़ से समाप्त नहीं होती है। इस प्रोटीन के प्रभाव को खत्म करने के लिए कारगर दवाई भी विकसित की जा सकेगी।

ताजा शोध में एंजाइम में प्रोटीन का एक विशेष समूह बनने और उसके द्वारा जीन को प्रभावित करने की बात सामने आई है। प्रोटीन का समूह जीन को सक्रिय और निष्क्रिय करने लगता है। नए अध्ययन से कोशिकाओं के अंदर ब्रेस्ट कैंसर की दवा के काम करने के तरीकों की भी पड़ताल की जा सकेगी।

वैज्ञानिकों ने निकला पेनकिलर का तोड़, नहीं होगा साइड इफ़ेक्ट      दर्द से निपटने के लिए दर्द निवारक या पेनकिलर दवाओं का सेवन बेहद आम है। इसके साइड इफेक्ट बहुत खतरनाक होते हैं। अमेरिकी वैज्ञानिकों ने इसका ता़ेड निकाल लिया है। उन्होंने ऐसी दर्द निवारक दवा विकसित करने का दावा किया है जो शरीर को नुकसान पहुंचाए बिना दर्द से राहत देने में सक्षम है।

शोधकर्ताओं के दल में भारतीय मूल के आशीष मांगलिक भी शामिल थे। वैज्ञानिकों ने नई दवा विकसित करने के लिए ब्रेन में मौजूद मॉर्फिन रिसेप्टर की आणविक संरचना का इस्तेमाल किया। यह बिना किसी दुष्प्रभाव के मॉर्फिन की तरह ही प्रभावशाली तरीके से दर्द से राहत देने में कारगर है। नई दवा मौजूदा पेनकिलर की तरह सांस लेने की प्रक्रिया को बाधित नहीं करता है। लिहाजा इसके ओवरडोज से मौत का खतरा नहीं है। फिलहाल चूहों पर इसका परीक्षण किया गया है। इंसानों पर इसका ट्रायल बाकी है।

यह भी पढ़ें-

हम हार्ट को रख सकते है हेल्दी जंक फूड को नजरअंदाज कर के