Home / भारत / जेट एयरवेज में हिस्सेदारी खरीदेगा टाटा संस

जेट एयरवेज में हिस्सेदारी खरीदेगा टाटा संस

संकट से जूझ रही जेट एयरवेज पर टाटा ग्रुप अपना पूरा नियंत्रण चाहता है। टाटा ग्रुप चाहता है कि कंपनी से गोयल परिवार निकल जाए, इसलिए उसने जेट एयरवेज पर आंशिक हिस्सेदारी और साझे नियंत्रण के शुरुआती प्रस्ताव को पूर्ण्तः ठुकरा दिया।

सूत्रों के अनुसार टाटा ग्रुप ने जेट के प्रतिनिधियों के सामने स्पष्ट कर दिया है कि टाटा ग्रुप पूरी कंपनी का अधिग्रहण करेगा या फिर हवाई जहाज और अन्य आवश्यक संपत्तियां खरीदेगा। उसकी ऐसी किसी डील में कोई भी दिलचस्पी नहीं है जिसमें नरेश गोयल के हाथों में नियंत्रण बरकरार रहे। अभी जेट एयरवेज के मौजूदा प्रमोटर नरेश गोयल और उनकी पत्नी के पास कंपनी की तकरीबन 51 फीसदी हिस्सेदारी है।

खबरों के अनुसार जेट एयरवेज स्टेक सेल के लिए टाटा ग्रुप के साथ शुरुआती बातचीत कर रही है। जेट के प्रतिनिधियों ने टाटा को तकरीबन 26 फीसदी हिस्सेदारी और वाइस-चेयरमैन समेत कुछ बोर्ड स्तर के पद देने की पेशकश की। लेकिन, टाटा ग्रुप ने इसे पूर्ण्तः खारिज कर दिया। विदित है कि अमेरिका के राज्य टेक्सस की प्राइवेट इक्विटी फर्म टीपीजी कैपिटल ने भी जेट एयरवेज के इसी तरह का प्रस्ताव ठुकरा दिया था। आपको बता दे की गोयल और उनकी पत्नी अनिता के पास जेट के तकरीबन 51 फीसदी जबकि UAE के एतिहाद एयरवेज के पास 24 फीसदी शेयर हैं।

Loading...
Loading...