Thursday , October 28 2021
Home / लाइफस्टाइल / महिला पत्रकार को घर-घर जाकर ढूंढ रहे हैं तालिबानी

महिला पत्रकार को घर-घर जाकर ढूंढ रहे हैं तालिबानी

तालिबान भले बार बार यह दावा कर रहा है कि उनके तरफ से शांति और अमन बहाल की जाएगी साथ ही पत्रकारों को स्वतंत्र रूप से काम करने की आजादी मिलेगी लेकिन हकीकत में ऐसा नही है।क्योंकि तालिबानी वहां एक ऐसी महिला पत्रकार को घर घर ढूंढ रहा है जिसने वहां तालिबानी उत्पीड़न को लेकर आवाज उठाई है।

पत्रकार और वुमन राइट एक्टिविस्ट सायरा सलीम की तलाश कर रहे हैं। सायरा सलीम जो कि तालिबान उत्पीड़न के खिलाफ आवाज उठाई थी। सलीम ने बताया कि चार दिन पहले रात में तालिबान के छह सदस्य उसके घर आए थे और दरवाजा खटखटाया था। सलीम ने कहा कि तालिबानी लड़ाकों को देखने के बाद वह अपने बिस्तर के नीचे छिप गई थीं। जिसके बाद लड़ाकों ने उनके पिता से उसके ठिकाने के बारे में पूछताछ की। पिता ने लड़ाकों को बताया कि उनकी बेटी घर पर नहीं है।

सलीम ने कहा कि मुझे डर है कि अगर मैं घर से बाहर भी निकलती हूं तो तालिबान मुझे पहचान लेगा। अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जा जमाने के बाद से सलीम घर से बाहर नहीं निकली हैं। सलीम के साथ-साथ विशेषज्ञों का मानना है कि आतंकवादी समूह के शासन में अफगान महिलाओं को अनिश्चित भविष्य का सामना करना पड़ सकता है।

न्यूयॉर्क पोस्ट की रिपोर्ट के मुताबिक लड़ाके अपनी कार में तालिबान के झंडे के साथ घर के सामने पहुंचे। वहां पहुंचने के बाद पूछा क्या मुझे अपनी जान गंवाने का डर नहीं लगता है।

– एजेंसी/न्यूज़ हेल्पलाइन

यह भी पढ़ें:

भूत प्रेत औरअंधविश्वास की आड़ में विवाहिता पर कर रहे थे अत्याचार

लाल चौक पर जन्माष्टमी की झांकी: कई सालों के बाद देखने को मिला यह नजारा