Home / भारत / आत्‍मनिर्भर भारत अभियान: इन आठ क्षेत्रों में ढांचागत सुधारों की हुई घोषणा

आत्‍मनिर्भर भारत अभियान: इन आठ क्षेत्रों में ढांचागत सुधारों की हुई घोषणा

वित्‍तमंत्री निर्मला सीतारामन ने आर्थिक पैकेज की चौथी किस्‍त की घोषणा करते हुए कहा कि इसके तहत आत्‍मनिर्भर भारत के निर्माण के लिए नीतिगत और संरचनात्‍मक सुधारों पर विशेष जोर दिया जाएगा।

वित्‍तमंत्री ने बताया कि आठ क्षेत्रों – कोयला, खनिज, रक्षा उत्‍पादन, नागर विमानन, विद्युत प्रेषण कंपनियों, अंतरिक्ष क्षेत्र और परमाणु ऊर्जा पर विशेष ध्‍यान केंद्रित करते हुए ढांचागत सुधार किए जाएंगे।

केन्‍द्रीय मंत्री ने एक अन्‍य बड़े सुधार का जिक्र करते हुए बताया कि सरकार अस्‍पतालों जैसी सामाजिक अवसंरचना में निजी क्षेत्र के निवेश को बढ़ावा देगी। इसके लिए कुल आठ हजार करोड़ रुपए की व्‍यवस्‍था की गई है।

भारतीय अंतरिक्ष क्षेत्र खोलने के लिए घोषणा करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इससे अंतरिक्ष संबंधी गतिविधियों में निजी क्षेत्र की भागीदारी को बढ़ावा मिलेगा। इस फैसले का मुख्य उद्देश्‍य भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन की सुविधाओं और अन्य संसाधनों का इस्तेमाल निजी क्षेत्र की क्षमता बढ़ाने के लिए करना है। तारामंडल की भविष्य की योजना और बाह्य अंतरिक्ष यात्रा को भी निजी क्षेत्र के लिए खोल दिया गया है। इससे भू-स्थानिक डाटा नीति का उदारीकरण होगा और टैक – उद्यमियों को दूर संवेदी डाटा उपलब्ध होगा। इससे नई संभावना के द्वार खुलेंगें।

परमाणु ऊर्जा क्षेत्र में बड़े सुधार की घोषणा करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि चिकित्सा संबंधी उपकरणों के उत्पादन के लिए सार्वजनिक निजी भागीदारी के आधार पर अनुसंधान रियेक्टर स्थापित किए जाएंगे। इससे कैंसर और अऩ्य गंभीर बीमारियों के किफायती इलाज के रास्ते खुल सकेंगे।

यह भी पढ़ें:

एक नजर खेती-किसानी के लिए की गई वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की इन बड़ी घोषणाओं पर

Loading...