Monday , September 21 2020
Home / भारत / देश के प्रमुख शहरों में 25 प्रतिशत बढ़ी घरों की बिक्री

देश के प्रमुख शहरों में 25 प्रतिशत बढ़ी घरों की बिक्री

देश के नौ प्रमुख शहरों में 2018 में मकानों की बिक्री लगभग 25 प्रतिशत बढ़कर 3.1 लाख इकाई पर पहुंच गई है। एक ताज़ा रिपोर्ट के अनुसार विशेषरूप से सस्ते मकानों की मांग बढ़ने से घरों की बिक्री बढ़ी है। न्यूज कॉर्प समर्थित प्रॉप टाइगर ने नौ शहरों मुंबई, पुणे, नोएडा, गुरुग्राम, बेंगलुरु, चेन्नई, हैदराबाद, कोलकाता और अहमदाबाद के रीयल एस्टेट क्षेत्र का आकलन किया है।

आवास बाजार पर अपने साल भर के लेखे जोखे में प्रॉप टाइगर ने कहा कि पिछले साल नोटबंदी के प्रभाव की वजह से घरों की बिक्री अत्यधिक प्रभावित हुई थी। इसके अलावा मई, 2017 से लागू हुए रेरा कानून तथा GST क्रियान्वयन की वजह से भी पिछले साल घरों की बिक्री घटी थी।

रीयल्टी पोर्टल ने यह कहा कि 2018 में नए घरों की आपूर्ति इससे पिछले साल की तुलना में तकरीबन 22 प्रतिशत घटकर लगभग 1.9 लाख इकाई रह गई। नए रीयल एस्टेट कानून रेरा के प्रावधानों के कड़ाई से पालन की वजह से बिल्डरों ने नई परियोजनाएं शुरू करने में सावधानी बरती। इसके अलावा नकदी की कमी तथा पहले से बने मकान नहीं बिकने की वजह से नई परियोजनाएं आगे नहीं बढ़ पाईं।

आंकड़ों के मुताबिक 2018 में मुंबई महानगर क्षेत्र (MMR) में घरों की बिक्री 34 प्रतिशत बढ़कर एक लाख इकाई से अधिक रही है। पुणे में बिक्री में पिछले साल की तुलना में तकरीबन 47 प्रतिशत का इजाफा हुआ। दक्षिण के राज्यों में भी घरों की बिक्री बढ़ी है। उत्तर में नोएडा में बिक्री बढ़ी है। इसकी वजह है कि नोएडा में अघिकतर डेवलपर्स ने कीमतों में कटौती की है।

Loading...