Thursday , February 27 2020
Home / लेटेस्ट न्यूज़ / राम माधव ने कहा – अमेरिका समझ ले, भारत कोई डंपिंग बाजार नहीं

राम माधव ने कहा – अमेरिका समझ ले, भारत कोई डंपिंग बाजार नहीं

भाजपा महासचिव राम माधव ने कहा कि भारत को अपने हितों का ख्याल रखते हुए ज्यादा देशों के साथ जुड़ना चाहिए। भारत और अमेरिका के बीच व्यापार साझेदारी के महत्वाकांक्षी लक्ष्य हैं। लेकिन अमेरिका को समझने की जरूरत है, वह यह कि हम एक डंपिंग बाजार नहीं हैं। सरकार चाहती है कि भारत घरेलू बाजार और प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) को आगे बढ़ाते हुए ट्रेडिंग हब के तौर पर उभर कर सामने आए।

यूएस-इंडिया स्ट्रैटजिक पार्टनरशिप फोरम (यूएसआईएसपीएफ) को संबोधित करते हुए माधव ने कहा कि रक्षा, संचार, ऊर्जा और स्वास्थ्य सेवा प्रमुख क्षेत्र हैं। हमें वैश्विक और क्षेत्रीय दबावों से परे बढ़ती साझेदारी को देखने की जरूरत है।माधव ने कहा, ‘‘जिस तरह से भारत और चीन दोनों आगे बढ़ रहे हैं, हमें प्रतिस्पर्धी होने और इस क्षेत्र में सभी तरीकों से संसाधनों का उपयोग करने की भी आवश्यकता है। आज चीन-भारत संबंध अमेरिका-भारत संबंधों से बहुत बेहतर हैं।’’

अमेरिका की पूर्व विदेश मंत्री कोंडोलीजा राइस ने माधव के बयान पर कहा, ‘‘चीन भारत के साथ गुरिल्ला युद्ध खेल रहा है। हर कोई इसे देख रहा है। आज भारत को सभी क्षेत्रों में विकास के लिए निजी क्षेत्र के साथ जुड़ने की जरूरत है। भारत अपनी अर्थव्यवस्था के साथ बहुत कुछ करने का प्रयास कर रहा है, लेकिन अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) द्वारा इसे दी गई कम रेटिंग के कारण कई चुनौतियां भी हैं।’’

Loading...
Loading...