Thursday , October 17 2019
Home / लेटेस्ट न्यूज़ / कच्चे तेल की कीमत में उछाल, भारत में 7 रुपये महंगा हो सकता है पेट्रोल

कच्चे तेल की कीमत में उछाल, भारत में 7 रुपये महंगा हो सकता है पेट्रोल

सऊदी अरब में तेल प्लांट पर हमले के बाद कच्चे तेल की कीमतों में आग लग गई है। वैश्विक बाजार में कच्चे तेल की कीमत में 19 फीसदी तक तेजी आई। 1991 के खाड़ी युद्ध के बाद यह एक दिन में आया सर्वाधिक उछाल है। भारत में भी पेट्रोल-डीजल की कीमतों में वृद्धि को लेकर चिंता बढ़ी है। इसका असर आर्थिक विकास को दोबारा गति देने के प्रयास में जुटी सरकार के फैसलों पर भी पड़ेगा ।

ग्लोबल बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड 19 फीसदी महंगा होकर 72 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच गया। सऊदी अरब में ऑइल प्रॉडक्शन का आधा हिस्सा ठप पड़ गया है, जो कि रोज़ की ग्लोबल सप्लाई का 6% है।ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट के मुताबिक, तेल उत्पादक देशों के संगठन ओपेक के महासचिव मोहम्मद बरकिंडो ने कहा है कि पैनिक होने की जरूरत नहीं है।

अगले 15 दिनों में भारत में पेट्रोल और डीजल के दाम में 5 से 6 रुपये प्रति लीटर बढ़ सकता है। , अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में उछाल आने के कारण भारत की ऑइल मार्केटिंग कंपनियां दाम में 5 रुपये से 6 रुपये प्रति लीटर की वृद्धि कर सकती हैं।

पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने आपूर्ति बाधित होने की संभावना को खारिज किया है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘हमने सितंबर में तेल कंपनियों के कच्चे तेल आयात की समीक्षा की है। हमें विश्वास है कि भारत के लिए आपूर्ति बाधित नहीं होगी। हम स्थिति पर करीब से नजर रख रहे हैं।’

लेकिन इससे करंट अकाउंट डेफिसिट बढ़ने के साथ जीडीपी ग्रोथ पर दबाव बनेगा और करंसी में भी कमजोरी बढ़ेगी।तेल उत्पादन में तेज गिरावट आने से इंडियन स्टॉक मार्केट पर थोड़े समय के लिए दबाव बन सकता है। आमतौर पर क्रूड ऑइल के दाम और इंडियन स्टॉक्स की चाल में उलटा संबंध होता है।

Loading...
Loading...