Thursday , February 21 2019
Home / भारत / देश में निवेश के लिए NRI को मिलेंगे विदेशी निवेशकों जैसे अधिकार

देश में निवेश के लिए NRI को मिलेंगे विदेशी निवेशकों जैसे अधिकार

देश की दिग्गज बाजार नियामक सेबी की एक समिति NRI और पोर्टफोलियो इनवेस्टमेंट स्कीम (PIS) रूट को फॉरन पोर्टफोलियो इनवेस्टर (FPI) के साथ मिलाने का सुझाव देने जा रही है। आपको बता दे की इससे प्रवासी भारतीय निवेशकों को राहत मिलेगी और सभी विदेशी निवेशकों के लिए एक जैसी व्यवस्था बनेगी।

NRI निवेश पर हटेगी पाबंधी

सूत्रों के अनुसार, ‘इससे सेबी को भारत में NRI निवेश को रेगुलेट करने में भरपूर मदद मिलेगी। अभी इसका रेगुलेशन नहीं होता। NRI के निवेश की अभी रिपोर्टिंग और मॉनिटरिंग नहीं होती, लेकिन इस प्रपोजल के लागू होने से वे भी पूर्ण्तः सेबी के दायरे में आ जाएंगे।’ इस बदलाव के बाद निवेशक FPI कैटेगरी में शिफ्ट हो जाएंगे। इससे NRI निवेश पर अभी जो पाबंदियां लगी हैं, वे पूर्ण्तः खत्म हो जाएंगी।

मिलेगी यह अनुमति

NRI को भारतीय शेयर बाजार में सीधे और परोक्ष रूप से निवेश करने की इजाजत मिली हुई है। भारतीय मूल के व्यक्ति (PIO) को PIS के तहत भारतीय कंपनियों में सीधे पैसा लगाने की अनुमति है। वे म्यूचुअल फंड भी खरीद सकते हैं, प्राइवेट इक्विटी फंड्स में भी निवेश कर सकते हैं और ऑफशोर FPI रूट का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। NRI और PIO को भारतीय कंपनियों के डिबेंचर और सरकारी बॉन्ड में भी पैसा लगाने की इजाजत है। NRI इनवेस्टमेंट को फॉरेन एक्सचेंज मैनेजमेंट एक्ट (FEMA) के तहत रेगुलेट किया जाता है।

Loading...
Loading...