Breaking News
Home / भारत / स्टार्टअप्स को बढ़ावा देने के लिए एक सुदृढ़ एवं अनुकूल परिवेश का सृजन

स्टार्टअप्स को बढ़ावा देने के लिए एक सुदृढ़ एवं अनुकूल परिवेश का सृजन

भारत में उद्यमशीलता के विकास के साथ-साथ छोटे कारोबारियों के समुदाय को बढ़ावा देने के प्रयासों के तहत इन्वेस्ट इंडिया ने अपनी प्रमुख पहल ‘स्टार्टअप इंडिया हब’ के जरिये एक ऐसे कार्यक्रम के लिए व्हाट्सएप के साथ साझेदारी की है जिसके तहत भारत में स्टार्टअप्स की संख्या में उल्लेखनीय वृद्धि करने, आर्थिक विकास की रफ्तार बढ़ाने और रोजगार अवसरों के सृजन पर फोकस किया जाता है।

तेजी से सफलता सुनिश्चित करने और जमीनी स्तर के नवाचारों को बढ़ावा देने के लिए समर्पित व्हाट्सएप एक मिलियन डॉलर के चौथाई हिस्से को ‘व्हाट्सएप स्टार्टअप चैलेंज’ के शीर्ष 5 विजेताओं में निवेश करेगी और 250,000 डॉलर की अतिरिक्त राशि उद्यमी समुदाय के कुछ चुनिन्दा उद्यमियों को प्रारंभिक धन (सीड फंडिंग) के रूप में मुहैया कराई जाएगी, ताकि फेसबुक पर उनके व्हाट्सएप बिजनेस नम्बर का प्रचार-प्रसार किया जा सके और इसके साथ ही उनके व्यवसाय को नई गति दी जा सके। इससे उपभोक्तागण अपने संबंधित कारोबारी का पता लगाने में सक्षम हो जाएंगे और इसके साथ ही उल्लिखित व्हाट्सएप नम्बर पर उनसे बातचीत करना शुरू कर देंगे। इन्वेस्ट इंडिया लगभग 15 राज्यों में अपने कारोबारी साधनों (बिजनेस टूल) के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए व्हाट्सएप के साथ काम कर रही है। इससे आने वाले महीनों में 60,000 से भी अधिक कारोबारी उसके विभिन्न कारोबारी साधनों जैसे कि स्टार्टअप इंडिया ‘यात्रा’ कार्यक्रम और अन्य व्यक्तिगत सम्पर्क वाले प्रशिक्षण कार्यक्रमों से लाभान्वित होंगे।

इस अवसर पर केन्द्रीय वाणिज्य एवं उद्योग और नागरिक उड्डयन मंत्री श्री सुरेश प्रभु ने कहा कि व्हाट्सएप दरअसल एक स्टार्टअप है जो एक समुदाय के रूप में विकसित हो गया है। यही नहीं, व्हाट्सएप इस तथ्य का एक उल्लेखनीय उदाहरण है कि आखिरकार कैसे कोई आइडिया दैनिक जीवन का अभिन्न हिस्सा बन सकता है। उन्होंने यह भी कहा कि भारतीय स्टार्टअप्स को सफल होने के लिए यह सीखना होगा कि आखिरकार किसी आइडिया को एक कारोबारी योजना में कैसे तब्दील किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि स्टार्टअप समुदाय भारत का भविष्य है और इसके साथ ही यह एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जिसके जरिये इस देश के लाखों युवा लाभप्रद रोजगार प्राप्त कर सकते हैं।

इस साझेदारी पर टिप्पणी करते हुए व्हाट्सएप के वाइस प्रेसीडेंट श्री क्रिस डेनियल्स ने कहा कि भारत में स्टार्टअप्स का बड़ा ही अनुकूल माहौल या प्रवेश है जो भारतीय अर्थव्यवस्था के सभी क्षेत्रों पर व्यापक सकारात्मक असर डाल रहा है। उन्होंने कहा कि छोटे एवं मझोले कारोबारी भारतीय अर्थव्यवस्था की रीढ़ हैं जिनमें 100 मिलियन लोग कार्यरत हैं और ये भारत के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में एक तिहाई का योगदान दे रहे हैं। व्हाट्सएप विभिन्न कारोबारियों को उपभोक्ताओं से जोड़ने और उनके व्यवसाय को बढ़ाने का पूरा ख्याल रखती है। ज्यादा से ज्यादा अवसर देने पर अधिक से अधिक स्टार्टअप्स भारत के आर्थिक विकास के इंजन के रूप में उभर कर सामने आएंगे।

भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने 16 जनवरी, 2016 को इन्वेस्ट इंडिया के तहत स्टार्टअप इंडिया का शुभारंभ किया जो भारत सरकार की एक प्रमुख पहल है और इसका उद्देश्य देश में ऐसे नवाचार एवं स्टार्टअप्स को बढ़ावा देने के लिए एक सुदृढ़ एवं अनुकूल परिवेश का सृजन करना है जो आर्थिक विकास को नई गति देंगे और इसके साथ ही बड़ी संख्या में रोजगार अवसर सृजित करेंगे।

पिछले दो वर्षों में स्टार्टअप इंडिया कार्यक्रम के तहत 13,000 से भी अधिक स्टार्टअप्स पंजीकृत हुए हैं जो समस्त 29 राज्यों और 6 केन्द्र शासित प्रदेशों के 448 जिलों में फैले हुए हैं।

औद्योगिक नीति एवं संवर्धन विभाग में सचिव श्री रमेश अभिषेक और इन्वेस्ट इंडिया के सीईओ एवं एमडी श्री दीपक बागला भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

Loading...
Loading...