Breaking News
Home / भारत / ईद पर नया सफेद कुर्ता पैजामा नहीं, सफेद PPE किट खरीदने वाले डॉ. सैयद रिजवान अहमद का “मिशन संवेदना”

ईद पर नया सफेद कुर्ता पैजामा नहीं, सफेद PPE किट खरीदने वाले डॉ. सैयद रिजवान अहमद का “मिशन संवेदना”

आज हम आपको एक ऐसे सामाजिक कार्यकर्ता के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होंने इस ईद पर नया सफेद कुर्ता पैजामा नहीं, इस बार नई सफेद PPE किट खरीदी ताकि इस महामारी के दौरान लोगों की सेवा कर सकें।

एक तरफ जहां इस महामारी दौरान कई अपने परिवार वाले तक भी शव को हाथ नहीं लगा रहे हैं, तो वहीं तो मशहूर वकील और सामाजिक कार्यकर्ता डॉ. सैयद रिज़वान दिन-रात मानवता की सेवा में जुटे हैं।

बता दें कि डॉ. सैयद रिजवान अहमद “मिशन संवेदना” के तहत लगातार सेवा करते हुए ऐसे शवों का अंतिम संस्कार कर रहे हैं जिनका कोई नहीं है अथवा किसी कारण से अंतिम संस्कार नहीं हो पा रहा हैं।

कल डॉ. रिजवान के द्वारा श्री राम अनाथ आश्रम अलीगंज लखनऊ की 13 वर्ष की बच्ची का अंतिम संस्कार किया गया।

डॉ. रिजवान ने इस ईद पर नया सफेद कुर्ता पैजामा नहीं, इस बार नई सफेद PPE किट खरीदी ताकि इस महामारी के दौरान लोगों की सेवा कर सकें।

लोगों का कहना है कि इस सामाजिक कार्यकर्ता की जितनी तारीफ की जाय, उतनी कम है। राष्ट्रहित में लगातार काम करने वाले डॉ. रिजवान का योगदान अत्यंत सराहनीय है तथा हमेशा याद रखा जायेगा।

बिहार के सीवान में एक ऐसा मामला देखने को मिला जब एक जज साहब के पिता की कोरोना से मौत हो गई। इस बात का पता जैसे ही जज साहब को हुआ तो उन्होंने अपने पिता का शव लेने से इनकार कर दिया।

यह भी पढ़ें:

बंद होने जा रही हैं लंदन की 500 साल पुरानी दुकान, महामारी ने बिगाड़े आर्थिक हालात