Home / लाइफस्टाइल / आइये जानते है, इन आटे की चपाती से हमें कितना मिलता है पोषण?

आइये जानते है, इन आटे की चपाती से हमें कितना मिलता है पोषण?

वेज ग्रेवीज के साथ गेहूं की चपाती, तो नॉन वेज के साथ रुमाली रोटी, नान या खमीरी रोटी का सेवन किया है। मगर क्या ये रोटियां हमारी सेहत के लिए अत्यधिक फायदेमंद हैं? किस तरह के आटे की चपाती से हमें कितनी अधिक कैलोरीज मिलेंगी? आइये इस बारे में आपको बताते है:

गेहूं:

इसकी रोटियां हर घर में बनाई जाती हैं। आपने गौर किया होगा कि दो-तीन दिन अगर बाहर खाना खाया जाए, तो अपने आप मन घर की बनी गेहूं की रोटी खाने को करने लगता है। इससे बने आटे में फोलिक एसिड, विटमिन -E, विटमिन B-6 और B कॉम्प्लेक्स जैसे विटमिन और मैग्नीशियम, मैंग्नीज, जिंक जैसे कई सारे मिनरल्स शामिल होते हैं, जो हमारी सेहत के लिए अत्यधिक लाभकारी हैं।

बेसन :

बेसन आटा भी आम तौर पर सभी घरों में पाया जाता है। कई तरह से इस्तेमाल होने वाला बेसन निश्चित रूप से खाने का स्वाद बहुत बढ़ाता है। आयरन, पोटैशियम, कॉपर, जिंक, फॉस्फोरस, फोलेट, विटमिन B-6 की प्रचुर मात्रा के साथ बेसन सेहत के लिए अच्छा माना जाता है।

बाजरा :

आपको बता दे की बाजरे के आटे में प्रोटीन, मैग्नीशियम, आयरन, फॉस्फोरस और फाइबर जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं। यह विटमिन-E, B कॉम्प्लेक्स, नायसिन, थायमिन और रिबोफ्लेविन का भी बहुत अच्छा स्रोत है। बाजरा दिल की सेहत के लिए भी बहुत अच्छा है और कोलेस्ट्रॉल व ब्लड प्रेशर के नियंत्रण में भी सहायक है।

सोयाबीन:

सोयाबीन का आटा सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इसमें प्रोटीन, थायमिन, आयरन, फोलेट, मैग्नीशियम और डाइटरी फाइबर प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। यह मेनोपॉज के दुष्प्रभावों से निपटने में बहुत कारगर है, साथ ही कई बीमारियों से भी बचाता है।

 

 

Loading...