Home / लाइफस्टाइल / जानिये कितने काम आता है औषधीय वृक्ष नीम

जानिये कितने काम आता है औषधीय वृक्ष नीम

आयुर्वेद में नीम के औषधीय गुणों का बखान मिलता है पर साथ ही आधुनिक विज्ञान भी सेहत, खेती-बाड़ी और पर्यावरण संबंधित समस्याओं के सफल निवारण के लिए नीम का ही सहारा लिए है।

नीम के पत्ते और मकोय के फ़लों का रस समान मात्रा में लेकर पलकों पर लगाने से आंखों का लालपन दूर हो जाता है।

नीम की निबौलियों को पीसकर रस तैयार कर लिया जाए और इसे बालों पर लगाया जाए तो जूएं मर जाते हैं।

गर्मियों में होने वाली घमौरियों से छुटकारा पाने के लिए नीम की छाल को घिसकर लेप तैयार कर लिया जाए तो आराम मिल जाता है।

गले की सूजन दूर करने के लिए पातालकोट के आदिवासी नीम की पत्तियां (५ ग्राम), ४ कालीमिर्च, २ लौंग और चुटकी भर नमक को मिलाकर काढ़ा बना लेते है।

गुजरात के आदिवासियों के अनुसार नीम के गुलाबी कोमल पत्तों को चबाकर रस चूसने से मधुमेह रोग मे आराम मिलता है।

नीम की पत्तियों को उबाल कर बोतल में छान कर रख लें । नहाने के वक्‍त बाल्टी में  इस नीम के पानी को डाल लें । इन पानी से नहाने से पानी संक्रमण, मुँहासे और शरीर से पुराने दाग- धब्बों से छुटकारा मिलता है।

Loading...
Loading...