Breaking News
Home / भारत / कोरोना संकट को अवसर में बदलकर सप्लाई-चेन का अहम हिस्सा बन सकता है भारत: अमेरिका

कोरोना संकट को अवसर में बदलकर सप्लाई-चेन का अहम हिस्सा बन सकता है भारत: अमेरिका

कोरोना संकट के समय में भारत के पास विदेशी कंपनियों को आकर्षित करने का सुनहरा अवसर है। भारत चाहे तो इस दौर में सप्लाई-चेन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन सकता है। अमेरिका के शीर्ष राजनयिक और राज्य विभाग के दक्षिण और मध्य एशिया ब्यूरो के निवर्तमान प्रमुख एलिस वेल्स ने कहा कि भारत को सप्लाई-चेन का महत्वपूर्ण हिस्सा बनने के लिए टैरिफ कम करना होगा। साथ ही विदेशी कंपनियों के लिए अधिक स्वागत योग्य नीतियों को अपनाना होगा।

वेल्स ने कहा कि दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय व्यापार 2019 में कुल रिकॉर्ड 150 बिलियन डॉलर का रहा था। लेकिन आज भी भारत विदेशी कंपनियों को उपयुक्त अवसर नहीं देता है। जो अमेरिका को भारत के लिए संरक्षित बाजार के बारे में चिंता में डालता है। वेल्स ने आगे कहा कि फरवरी में अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने भारत दौरे से पहले एक सीमित व्यापार सौदे को अंतिम रूप देने के लिए ठोस प्रयास किए थे, लेकिन कई मुद्दों पर सहमति नहीं बन सकी।

वेल्स ने आगे कहा कि भारत के कोरोना संकट के इस दौर में वाणिज्यिक बिक्री और अनुदान के माध्यम से अमेरिका सहित कई देशों मेंहाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन और अन्य दवाओं की आपूर्ति की है। जोकि भारत का अन्य देशों के बीच भरोसा जीतने का एक अहम कदम है। बता दे वेल्स लंबे समय से चीन-पाकिस्तान इकोनॉमिक कॉरिडोर की आलोचना करती आ रही है। ऐसे में भारत के पास अवसर है कि वह इस संकट के दौर को अवसर में परिवर्तित करें।

यह भी पढ़े:

डायनासोर बनकर विराट कोहली ने किया डराने का ड्रामा, वायरल हुआ ये मजेदार वीडियो
गर्मी के मौसम में कीजिए इस फेस पैक का इस्तेमाल: चेहरे पर लाल दाने, एलर्जी, टैनिंग, पिगमैंटेशन आदि की परेशानियां होंगी दूर

Loading...