Breaking News
Home / लाइफस्टाइल / अगर आपको है चुइंगगम चबाने कि लत तो अवश्य पढ़ें यह खबर

अगर आपको है चुइंगगम चबाने कि लत तो अवश्य पढ़ें यह खबर

हम में से बहुत सारे लोगों को चुइंग गम चबाने की बहुत लत होती है। क्योंकि उन्हें लगता है कि इसका फ्लेवर मुंह की बदबू दूर करता है तो वहीं मसुडों का बहुत व्यायम होता है। लेकिन चुइंग गम चबाने की आदत है को तुरंत बदल दें, क्योंकि लगातार इसको खाने से आपके पाचन तंत्र पर इसका बहुत गहरा असर पड़ता है।

अगर आप है पसीने की बदबु से परेशान, तो अपनाये ये आसान घरेलु उपाय

चुइंग गम से लेकर ब्रेड तक में डाले जाने वाले संरक्षक पदार्थो से छोटी आंत की कोशिकाओं के पोषक पदार्थो के शोषित करने की क्षमता और रोगाणुओं को रोकने की क्षमता में कमी आ सकती है। लेकिन आपको बता दें कि ऐसा करने से आप अनजाने में ही खतरनाक बीमारियों को न्योता दे रहे हैं। इस समस्या से बचने के लिए आप चुइंगम की जगह सौंफ के साथ मिश्री भी चबा सकते हैं।

लोगों को अक्सर लगता है कि उनके मसूड़ों कि सेहत च्यूइंग गम चबाने से बनी रहेगी। इतना ही नहीं दांतों की मजबूती के साथ सांस की बदबू से भी वो दूर रहेंगे। लेकिन अगली बार च्यूइंग गम चबाने के लिए निकालने से पहले कम से कम इस भ्रम को अपने दिमाग से निकाल दें। आप शायद ही जानते होंगे कि च्यूइंग गम चबाते समय व्यक्ति थूक के साथ हवा की अधिक मात्रा को भी शरीर के अंदर भर लेता है। जिसकी वजह से आपके पेट में गैस बनने लगती है।

आपके चेहरे की खूबसूरती बढ़ाने में बहुत मददगार होता है अंडा

खाली समय में च्यूइंग गम चबाने से आप गैस्ट्रिक की समस्या का शिकार बन सकते हैं। जिसकी वजह से सीने में जलन और दर्द की भी परेशानी आपको जेलनी पड़ सकती है। इतना ही नहीं आपके पेट में भी अजीब सा चुबने वाला दर्द होने लगेगा। लंबे समय तक च्यूइंग गम खाने से आंत की कोशिकाओं के अवशोषण के उभारों को कम कर सकती है। इन अवशोषण करने वाले उभारों को माइक्रोविलाई कहते हैं। माइक्रोविलाई के कम होने से आंत की रोकने की क्षमता कमजोर हो जाती है। जिसकी वजह से उपापचय धीमा होने के साथ कुछ पोषक पदार्थ, जैसे- आयरन, जिंक और वसा अम्ल का अवशोषण काफी मुश्किल हो जाता है।

Loading...
Loading...