Breaking News
Home / लेटेस्ट न्यूज़ / कोरोना वायरस का वैश्विक प्रभाव: 2 मिलियन एयरलाइन सीटें प्रभावित

कोरोना वायरस का वैश्विक प्रभाव: 2 मिलियन एयरलाइन सीटें प्रभावित

ओएजी, यात्रा आंकड़ों एवं जानकारियों में दुनिया के अग्रणी प्रदाता, ने हवाई यात्रा बाज़ार पर कोरोनावायरस के वैश्विक प्रभाव पर अपना नया विश्‍लेषण जारी किया है।

यूरोप से संयुक्‍त राष्‍ट्र की यात्रा पाबंदी का वैश्विक विमान उद्योग पर दूरगामी असर दिखाई देगा। यह प्रतिबंध यूनाइटेड स्‍टेट्स और शेंझेन देशों के बीच सभी अंतर्राष्‍ट्रीय उड़ानों के 10.9 प्रतिशत और सभी शेड्यूल्‍ड अंतर्राष्‍ट्रीय सीटों के 16.9 प्रतिशत को प्रभावित करेंगी। कुल मिलाकर, अगले चार सप्‍ताह में प्रत्‍येक मार्ग पर 6,747 उड़ानें और लगभग 2 मिलियन सीटें प्रभावित होंगी।

डेल्‍टा और यूनाइटेड एयरलाइंस सबसे अधिक प्रभावित यूएस कैरियर्स हैं। साथ में,ये दोनों प्रभावित उड़ानों का 31 प्रतिशत का योगदान करते हैं। लुफ्‍थांसा सबसे अधिक प्रभावित यूरोपीय एयरलाइन है (13 प्रतिशत)। सबसे ज्‍यादा प्रभावित यूरोपीय देशों में जर्मनी, फ्रांस और नीदरलैंड्स शामिल हैं – जोकि शेंझेन एरिया और अमेरिका के बीच 57 फीसदी उड़ानों को अपनी सेवायें देते हैं।

ओएजी में वरिष्‍ठ विमानन विश्‍लेषक जॉन ग्रांट ने कहा, “कोविड-19 ने अकेले हवाई यात्रा बाजार में पहली बार सबसे बड़ी हलचल मचाई है। यह स्थिति काफी विकट है, यात्रा पर प्रतिबंध लग रहे हैं, क्षमता और एयरलाइन शेड्यूल में हर दिन बदलाव हो रहा है। अमेरिकी और यूरोपीय कैरियर्स की ओर से आने वाले दिनों में भारी मात्रा में उड़ानों के रद्द होने की संभावना है।”

12 मार्च 2020 को अप्रैल 2020 के लिए शेड्यूल्‍ड कैपेसिटी पर विचार करें, तो फिलहाल यूरोप से अमेरिका के लिए 13,169 शेड्यूल्‍ड, वन-वे फ्‍लाइट्स हैं। इसमें यूनाइटेड किंगडम भी शामिल है। सबसे अधिक शेड्यूल्‍ड फ्‍लाइट्स वाले देशों में शामिल हैं – यूके (4,121 उड़ानें), जर्मनी(1741 उड़ानें), फ्रांस(1,570 उड़ानें), नीदरलैंड्स (1,212 उड़ानें) और स्‍पेन (851 उड़ानें)।

Loading...
Loading...