Thursday , October 28 2021
Home / भारत / पूर्व भाजपा सांसद बाबुल सुप्रियो ने औपचारिक रूप से थामा टीएमसी का हाथ

पूर्व भाजपा सांसद बाबुल सुप्रियो ने औपचारिक रूप से थामा टीएमसी का हाथ

पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने जबसे विधानसभा चुनाव हारा है, तबसे राज्य में भाजपा को झटके पर झटके लगे जा रहे हैं। चुनाव परिणाम के बाद भाजपा के कई नेता पार्टी छोड़ कर तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) में शामिल हो चुके हैं। मगर आज जो झटका लगा है उसकी उम्मीद भाजपा हाईकमान को भी नहीं थी।

कोलकाता में एक विशेष समारोह में आज पूर्व केंद्रीय मंत्री और पूर्व भाजपा सांसद बाबुल सुप्रियो औपचारिक रूप से तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) पार्टी में शामिल हो गए। ज्ञात हो कि उनके TMC में शामिल होने की अटकलें की दिनों से लगाई जारही थी। ज्ञात हो कि हाल ही में केंद्रीय मंत्रिमंडल में फेरबदल के बाद जब उनसे मंत्रिपद छीन लिया गया था तो कुछ दिनों के अंतराल में उन्होंने भाजपा को छोड़ दिया था।

भाजपा छोड़ते समय उन्होंने कहा था कि वे भाजपा को मंत्रिपरिषद से हटाए जाने के कारण नहीं छोड़ रहे हैं, मगर भाजपा छोड़ने के कुछ दिनों के भीतर तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) को जॉइन करना बताता है कि भाजपा का परित्याग उनकी राजनीतिक महत्वाकांक्षा का ही नतीजा था, जहां पर वे मंत्रिपद लिए जाने से नाराज थे।

भाजपा के पूर्व नेता बाबुल सुप्रियो आज टीएमसी में शामिल होने के बाद अपने सम्बोधन में कहा, “जब मैंने कहा था कि मैं राजनीति छोड़ दूंगा तो इसका मतलब मेरे दिल से था। हालांकि, मुझे लगा कि एक बहुत बड़ा अवसर मुझे (टीएमसी में शामिल होने पर) सौंपा गया था। मेरे सभी दोस्तों ने कहा कि राजनीति छोड़ने का मेरा फैसला गलत और भावनात्मक था।

उन्होंने आगे कहा, “मुझे बहुत गर्व है कि मैं अपना फैसला बदल रहा हूं। मैं बंगाल की सेवा करने के महान अवसर के लिए वापस आ रहा हूं। मैं बहुत उत्साहित हूँ। मैं सोमवार को दीदी (सीएम ममता बनर्जी) से मिलूंगा। गर्मजोशी भरे स्वागत से अभिभूत हूं। दीदी और अभिषेक ने मुझे बहुत अच्छा मौका दिया है। चूंकि मैं टीएमसी में शामिल हो गया हूं, इसलिए आसनसोल में अपनी सीट पर बने रहने का कोई मतलब नहीं है। मैं आसनसोल की वजह से राजनीति में आया हूं। मैं उस निर्वाचन क्षेत्र के लिए यथासंभव प्रयास करूंगा।

बाबुल सुप्रियो आज टीएमसी में शामिल होने TMC नेता कुणाल घोष ने चुटकी लेते हुए कहा कि भाजपा के कई नेता टीएमसी नेतृत्व के संपर्क में हैं। वे भाजपा से संतुष्ट नहीं हैं। एक (बाबुल सुप्रियो) आज शामिल हुए, दूसरा कल शामिल होना चाहता है। यह प्रक्रिया चलती रहेगी। रुको और देखो।

यह भी पढ़े- गणपति विसर्जन के लिए मुंबई बीएमसी ने पूरी कि तैयारियां