Home / लेटेस्ट न्यूज़ / पर्याप्त जल उपलब्ध, कुशल जल प्रबंधन महत्वपूर्ण : नितिन गडकरी

पर्याप्त जल उपलब्ध, कुशल जल प्रबंधन महत्वपूर्ण : नितिन गडकरी

केन्द्रीय जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण, नौवहन तथा सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने ऊपरी यमुना बेसिन में निर्मित होने वाले रेणुकाजी बहुउद्देशीय बांध परियोजना के निर्माण के लिए नई दिल्ली में छह राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ समझौते पत्र पर हस्ताक्षर किए। समझौते पर हस्ताक्षर करने वाले मुख्यमंत्री थे – उत्तर प्रदेश के श्री योगी आदित्यनाथ, राजस्थान के श्री अशोक गहलोत, उत्तराखंड के श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत, हरियाणा के श्री मनोहर लाल, दिल्ली के श्री अरविंद केजरीवाल और हिमाचल प्रदेश के श्री जयराम ठाकुर।

प्रयागराज में नमामि गंगे परियोजनाओं के लिए अनुदान समझौते पर हस्ताक्षर हुए। यह समझौता एक नगर, एक संचालक कार्यक्रम पर आधारित है। श्री नितिन गडकरी की उपस्थिति में समझौते पर राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन के श्री अखिल कुमार, उत्तर प्रदेश जल निगम के श्री अनिल कुमार श्रीवास्तव और प्रयागराज वाटर प्राइवेट लिमिटेड के श्री दिलीप पोरमल ने हस्ताक्षर किए।

इस अवसर पर श्री गडकरी ने कहा कि देश में जल पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है, परन्तु कुशल जल प्रबंधन की आवश्यकता है। रेणुकाजी बांध परियोजना के समझौते पर हस्ताक्षर को ऐतिहासिक क्षण बताते हुए उन्होंने कहा कि सरकार यथाशीघ्र केबिनेट से इसकी मंजूरी प्राप्त करने का प्रयास करेगी। उन्होंने कहा कि यमुना नदी पर किसाऊ बहुउद्देशीय परियोनजा विकसित की गई है और जल्द ही समझौते पर हस्ताक्षर किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि लखवार बहुउद्देशीय परियोजना के लिए छह राज्यों के बीच 28 अगस्त, 2018 को समझौते पर हस्ताक्षर हुए।

मुख्यमंत्रियों को धन्यवाद देते हुए श्री गडकरी ने कहा कि इन परियोजनओं से सभी राज्यों को लाभ होगा। इन परियोजनाओं से यमुना नदी में प्रवाह की स्थिति बेहतर होगी जो कि समय की मांग है।

केन्द्रीय जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण राज्य मंत्री श्री अर्जुन राम मेघवाल तथा डॉ. सत्यपाल सिंह और सचिव श्री यू.पी.सिंह भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

Loading...
Loading...