Wednesday , September 18 2019
Breaking News
Home / मनोरंजन / निर्माता गौरांग दोशी ने अबू धाबी के शाही परिवार के साथ की संयुक्त उद्यम की घोषणा

निर्माता गौरांग दोशी ने अबू धाबी के शाही परिवार के साथ की संयुक्त उद्यम की घोषणा

बॉलीवुड नई घोषणाओं, नई परियोजनाओं, नए लॉन्च के लिए तैयार है. ये वो चीज है, जिसकी उम्मीद दर्शकों को हर बार बॉलीवुड से होती है. और ऐसी खबर है कि बॉलीवुड में कुछ नया पक रहा है.

बॉलीवुड में एक ऐसा शख्स है, जिसने पहले भी इतिहास रचा है और अब फिर से इतिहास दोहराने के लिए वापस आ गया है. इस शख्स का नाम है, गौरांग दोशी. 2002 में आंखें का निर्माण करने वाले निर्माता, गौरांग दोषी एक लंबे अंतराल के बाद लौट रहे है और वह भी एक रॉयल सेलेब्रेशन (शाही उत्सव) के साथ. अबू धाबी के शाही परिवार के शेख थेयाब बिन खलीफा बिन हमदान अल नाहया ने गौरांग दोशी के साथ 3 आगामी प्रोजेक्ट के लिए जुड़ें है.

इन प्रोजेक्ट के तहत कुछ उल्लेखनीय नामों में अनीस बज्मी द्वारा निर्देशित गौरांग दोशी की आंखें रिटर्न, नीरज पाठक द्वारा निर्देशित हैप्पी एनिवर्सरी और अब्बास मस्तान द्वारा निर्देशित इंडियन इन डेंजर शामिल हैं. तीनों फिल्में अगले साल रिलीज होने वाली हैं.

शेख थेयाब बिन खलीफा बिन हमदान अल नाहया ने कहा, “मैंने हमेशा बॉलीवुड फिल्मों का आनंद लिया है और अबू धाबी के लोग भी इसे पसंद करते हैं. गौरांग के साथ इस सहयोग के तहत हम सार्थक सिनेमा बनाना चाहते हैं जो मनोरंजक भी हो. यह दोनों देशों के बीच संबंधों में एक महत्वपूर्ण कदम है.”

इस सहयोग से उत्साहित गौरांग दोशी ने कहा, “शाही परिवार के हीज हाइनेस सच्चे मायने में दूरदर्शी हैं और अवसर की पहचान करने की उनमें दुर्लभ प्रतिभा है. वह एक अद्भुत व्यक्ति हैं और मुझे उम्मीद है कि हम एक साथ जादू पैदा कर सकते हैं.”

शाही परिवार के शेख थेयाब बिन खलीफा बिन हमदान अल नाहया को अबू धाबी के विकास के लिए प्रतिबद्ध व्यक्ति के रूप में देखा जाता है और दोनों देशों के बीच यह सहयोग निश्चित रूप से बॉलीवुड के लिए नए रास्ते खोलेगी.

गौरांग दोषी ने श्री अमिताभ बच्चन की प्रशंसा करते हुए कहा, “मैं उन्हें आंखें रिटर्न्स के लिए साथ लाने को ले कर उत्साहित हूं. मेरी परियोजनाएँ उनके बिना अधूरी हैं.”

गौरांग दोषी ने अपनी उत्कृष्ट कृतियों जैसे आंखें, दीवार:लेट्स ब्रिंग आवर हीरोज होम और बवंडर के साथ अपनी प्रतिभा साबित की है. यहां तक कि अपने काम के लिए उन्होंने चार लिम्का बुक रिकॉर्ड भी अपने नाम दर्ज किए है. उन्हें अपने पिता स्वर्गीय श्री विनोद दोशी से कम उम्र में ही फिल्म निर्माण की कला विरासत में मिली. उनके पिता ने वीआर पिक्चर्स के बैनर तले सच्चा झूठा, नास्तिक, दिल, बेटा और कई हिट फिल्में दीं है. गौरांग का लक्ष्य अपने नए उद्यम गौरांग दोशी प्रोडक्शंस के तहत अधिक से अधिक अपरंपरागत कंटेन्ट वितरित करना है और साथ ही पुराने रिकॉर्ड तोड़ते हुए नए रिकॉर्ड बनाना है.

Loading...
Loading...