Breaking News
Home / लेटेस्ट न्यूज़ / आखिर क्या है McDonald’s और बख्‍शी के बीच का विवाद , बंद हुए थे कई आउटलेट्स

आखिर क्या है McDonald’s और बख्‍शी के बीच का विवाद , बंद हुए थे कई आउटलेट्स

अमेरिकी फूड चेन मैकडॉनल्ड्स और भारत में कंपनी के एमडी विक्रम बख्शी के बीच विवाद नया नहीं है। इस की वजह से साल 2017 में मैकडॉनल्ड्स के कई स्‍टोर बंद पड़े रहे थे। लेकिन अब विवाद का सेटलमेंट होता नज़र आ रहा है। हालां‍कि इस पर नेशनल कंपनी लॉ अपीलेट ट्रिब्यूनल (NCLAT)ने रोक लगा दी है।1995 में विक्रम बख्शी और मैकडॉनल्ड्स ने 50:50 फीसदी की हिस्‍सेदारी के साथ एक ज्वाइंट वेंचर कनॉट प्लाजा रेस्टोरेंट लि. यानी CPRL शुरू किया था। इस ज्‍वाइंट वेंचर कंपनी को मैकडॉनल्ड के नाम से देश के उत्तरी और पूर्वी क्षेत्र में बिक्री केन्द्र खोलने का जिम्मा दिया गया।

विक्रम बख्शी और मैकडॉनल्ड्स के बीच विवाद की शुरुआत 2008 में तब हुई जब मैकडॉनल्ड्स ने CPRL में बख्शी की 50 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने की कोशिश की थी। 2013 में बख्‍शी को मिसमैनेजमेंट का आरोप लगाते हुए CPRL के प्रबंध निदेशक के पद से हटा दिया गया था।

इसके बाद सितंबर 2013 में बख्‍शी नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (NCLT) पहुंच गए और एनसीएलटी ने बख्‍शी के पक्ष में फैसला सुनाया। मैकडॉनल्ड्स ने बख्‍शी को वापस पद पर बिठाने के फैसले को नेशनल कंपनी लॉ अपीलेट ट्रिब्यूनल (NCLAT) में चुनौती दी।

2017 में मैकडॉनल्ड्स ने CPRL के साथ फ्रेंचाइजी एग्रीमेंट खत्म कर लिया जिसकी वजह से उत्तर और पूर्व भारत के करीब 165 मैकडॉनल्ड्स आउटलेट्स अचानक बंद हो गए।
NCLAT ने दोनों कंपनियों को सेटलमेंट की शर्तें जमा करने का निर्देश दिया।

Loading...
Loading...