Home / भारत / दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने ‘सिक्किम’ को बताया भारत से अलग!

दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने ‘सिक्किम’ को बताया भारत से अलग!

दिल्ली की केजरीवाल सरकार की ओर से सिविल डिफेंस के सदस्यों की भर्ती के लिए अखबारों में विज्ञापन प्रकाशित कराया गया जिसमे आवेदन के लिए पात्रता के कॉलम में लिखा गया कि भारत का नागरिक हो या नेपाल, भूटान या सिक्किम की प्रजा हो। इस विज्ञापन में नेपाल और भूटान के साथ सिक्किम को भी भारत से अलग दिखाया गया है। विज्ञापन पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की फोटो भी छपी है।

सिक्किम के मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तमांग ने ट्वीट कर कहा – सिक्किम भारत का एक हिस्सा है। दिल्ली सरकार से इस मुद्दे को सुधारने का अनुरोध करता हूं।
उन्होंने कहा, ‘दिल्ली सरकार के जरिए विभिन्न प्रिंट मीडिया में प्रकाशित इस विज्ञापन में सिक्किम के साथ-साथ भूटान और नेपाल जैसे देशों का उल्लेख है। सिक्किम 1975 से भारत का हिस्सा रहा है और एक सप्ताह पहले ही राज्य दिवस मनाया गया है।

बाद में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सफाई देते हुए अपने ट्वीट में लिखा – सिक्किम भारत का अभिन्न अंग है। ऐसी त्रुटियों को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है। विज्ञापन वापस ले लिया गया है और संबंधित अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की गई है। जबकि आम आदमी पार्टी ने सिक्किम के विलय से पहले का एक पुराना नोटिफिकेशन ट्वीट करके विज्ञापन को सही बताने की कोशिश की है। अगर यह विज्ञापन आम आदमी पार्टी के मुताबिक सही है तो फिर सीएम केजरीवाल सफाई क्यों दे रहे हैं?

आपको बता दें कि साल 1975 में भारत का अंग बना सिक्किम, उत्तराखंड, झारखंड और छत्तीसगढ़ के गठन से पहले देश का सबसे नया राज्य हुआ करता था।

यह भी पढ़ें: पाकिस्तान से भारत आया बड़ा संकट: राजस्थान, यूपी, पंजाब, हरियाणा और मध्यप्रदेश आये चपेट में

Loading...