Sunday , September 26 2021
Breaking News
Home / भारत / लेमिनेटेड आधार कार्ड से लीक हो सकता है डाटा, पढ़ें पूरी खबर

लेमिनेटेड आधार कार्ड से लीक हो सकता है डाटा, पढ़ें पूरी खबर

UIDAI ने लोगों को यह आगाह किया कि वह प्लास्टिक वाले या लेमिनेटेड आधार स्मार्ट कार्ड के चक्कर में कतई नहीं पड़े क्योंकि इनकी अनाधिकृत छपाई से QR कोड काम करना पूरी तरह बंद कर सकता है या उनकी सहमति के बिना ही व्यक्तिगत जानकारी पूरी तरह सार्वजनिक हो सकती है।

प्राधिकरण का यह कहना है कि आधार पत्र या इसका कटा हुआ भाग, सामान्य कागज पर आधार का इंटरनेट से पूरी तरह निकाला गया संस्करण या एम-आधार पूरी तरह से वैध है। प्राधिकरण का यह कहना है कि आधार स्मार्ट कार्ड की अनाधिकृत छपाई से उपयोक्ता को तकरीबन 50 से 300 रुपए की लागत आएगी जो कि पूरी तरह अनावश्यक है।

प्राधिकरण ने अपने एक बयान में कहा है, ‘प्लास्टिक या PVC आधार स्मार्ट कार्ड का आमतौर पर QR कोड के रूप में इस्तेमाल नहीं किया जा सकता क्योंकि अनाधिकृत छपाई के दौरान यह कोड काम करना बंद कर देता है।’

इसके अनुसार इसके साथ ही इस प्रक्रिया में उपयेक्ता की व्यक्तिगत जानकारी भी उसकी मंजूरी के बिना ही सार्वजनिक की जा सकती है। UIDAI के CEO अजय भूषण पांडे ने यह कहा कि प्लास्टिक स्मार्ट कार्ड पूरी तरह अनावश्यक व बर्बादी है क्योंकि डाउनलोड कर सामान्य कागज पर प्रकाशित आधार कार्ड या ‘एम आधार’ पूरी तरह से वैध है।

इंफीनिक्स Hot S3 स्मार्टफोन 20MP फ्रंट कैमरे के साथ हुआ लॉन्च, जानें कीमत