Home / भारत / कोरोना वायरस लॉकडाउन: कई कंपनियों के दिवालिया होने की आशंका

कोरोना वायरस लॉकडाउन: कई कंपनियों के दिवालिया होने की आशंका

देश में 21 दिनों का लॉकडाउन लगाने के बाद देश की विकास दर में भारी गिरावट हुई है। यही नहीं इस लॉकडाउन से कई सेक्टरों के कारोबार पर बहुत बुरा असर पड़ता दिखाई दे रहा है जिसमें विनिर्माण, वित्त एवं बैंकिंग और पेट्रोलियम समेत कई अन्य सेक्टर्स शामिल हैं। इस वजह से कई कंपनियों के दिवालिया होने की आशंका को भी बल मिला है।

लॉकडाउन की वजह से सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया की अर्थव्यवस्था पर बुरा असर पड़ता दिखाई दे रहा है। दुनियाभर के अधिकतर मैन्यूफैक्चरिंग केन्द्र भी लॉकडाउन की वजह से बुरी स्तिथि में है। जिसे देखते हुए वैश्विक आपूर्ति शृंखला खराब बिगड़ने और वैश्विक विकास दर घटने की तरफ अग्रसर है। जानकारों का कहना है कि वित्त वर्ष 2019-20 में भारत की अर्थव्यवस्था पांच फीसदी से भी नीचे गिर सकती है। जिसका सटीक अनुमान लगाना कठिन है।

जानकारों की माने तो मार्च 2020 में खुदरा महंगाई दर 6.5 फीसदी से 6.7 फीसदी के बीच हो सकती है। वही थोक महंगाई दर 2.35 फीसदी से 2.5% के दायरे में रहने का अनुमान है। दरअसल दुनियाभर में कई प्रमुख कमोडिटी के भाव में गिरावट के कारण महंगाई में कमी आने की मजबूत संभावना है।

यह भी पढ़ें:

कोरोना वायरस से है बचना? इस तरह बढ़ाएं शरीर की इम्युनिटी

इन चीजों से बढ़ता है कोरोना का खतरा, तुरंत बनायें इनसे दूरी

Loading...