Home / भारत / 4,000 NBFC की जांच कर रहा है आयकर विभाग

4,000 NBFC की जांच कर रहा है आयकर विभाग

लगभग 4,000 ऐसी गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (NBFC) को आयकर विभाग की जांच का सामना करना पड़ रहा है जिनके लाइसेंस भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा रद्द कर दिए गए हैं। आयकर विभाग के अधिकारियों के मुताबिक विभाग इन NBFC की बैलेंस शीट में शामिल परिसंपत्तियों के स्रोत का पता लगाने और यह जानने की कोशिश कर रहा है क क्या ये ज्ञात स्रोत के जरिए प्राप्त हुई हैं या नहीं।

कर अधिकारी यह भी पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि क्या इन कंपनियों द्वारा मंजूर किए गए ऋणों का उपयोग उनके कर्जदारों द्वारा वास्तविक व्यवसाय के उद्देश्य के लिए किया गया था। आपको बता दे की RBI ने पिछले महीने कर विभाग के साथ शहर-वार आंकड़ा जारी किया था। आयकर विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि इस आंकड़े में कई सारी ऐसी कंपनियां शामिल थीं जो बड़े सरकारी बैंकों और कॉरपोरेट घरानों की सहायक/समूह कंपनियां हैं।

कर विभाग इन NBFC के बहीखातों और वित्तीय विवरणों को जुटाने की प्रक्रिया में है। एक अधिकारी के मुताबिक, इन कंपनियों में ऋण बुक वृद्धि बैंकों की तुलना में दोगुनी थी। कर विभाग इन NBFC की परिसंपत्ति-देनदारी में असमानता भी पाई है जिसकी जांच की जाएगी। विभाग ने वित्तीय खुफिया इकाई (FIU) से भी जानकारी जुटाई है। इस साल के शुरू में, FIU ने उन 9,236 NBFC की सूची जारी की थी जो गैर-अनुपालन से जुड़ी हैं और धनशोधन निवारण अधिनियम के तहत दायित्व को पूरा नहीं किया।

Loading...
Loading...