Home / भारत / नोटबंदी के बाद भुगतान आदतों में हुआ बदलाव!

नोटबंदी के बाद भुगतान आदतों में हुआ बदलाव!

नई दिल्ली। नोटबंदी के बाद से लोगों की भुगतान आदतों में बड़ा बदलाव आया है। यह दावा रिजर्व बैंक ने एक अध्ययन में किया। अर्थव्यवस्था नकद लेनदेन से कहीं आगे निकल चुकी है तथा डिजिटल भुगतान को अपना लिया है। गत वर्ष केन्द्र सरकार ने 500 और 1000 रुपए के नोट बंद कर दिए थे।

उबर के साथ महिंद्रा ने मिलाया हाथ, दोनों उतार सकते हैं इलेक्ट्रिक वाहन!

उसके बाद से खुदरा दुकानदार भी कार्ड और चेक से भुगतान लेने लगे। आरबीआई ने अपने अध्ययन में कहा है कि नोटबंदी का बैंक लेनदेन तथा अन्य भुगतान पर गहरा प्रभाव पड़ा। इससे भुगतान की प्रणाली कैश से निकल कर इलेक्ट्रॉनिक भुगतान की ओर बढ़ गई।

उसके अनुसार नोटबंदी के वक्त कार्ड, चेक और पीओएस से भुगतान का शुरू हुआ सिलसिला अब भी उससे भी तेज रफ्तार से चल रहा है। ये अध्ययन आरबीआई के सांख्यिकी विभाग के शशांक शेखर मैती के मार्गदर्शन में किया गया है।

कंपनी ओकीनावा ने पेश किया नया ई-स्कूटर Praise

रिपोर्ट में कहा गया है कि नोटबंदी से पहले चेक के लेनदेन तथा उसके मूल्य में काफी कमी थी, लेकिन नोटबंदी के दौरान और उसके बाद के माह में चेक के लेनदेन में काफी वृद्धि देखी गई है। इसके साथ ही डेबिट-क्रेडिट कार्ड तथा पॉयंट ऑफ सेल टर्मिनल से भुगतान में नोटबंदी और बाद के माह में काफी उछाल आया।

Loading...