Breaking News
Home / लेटेस्ट न्यूज़ / अरविंद सुब्रमण्यन के जीडीपी आंकड़ों पर दावे पर केंद्र का स्पष्टीकरण

अरविंद सुब्रमण्यन के जीडीपी आंकड़ों पर दावे पर केंद्र का स्पष्टीकरण

अरविंद सुब्रमण्यन के वित्त वर्ष 2011-12 से 2016-17 के बीच भारत के जीडीपी ग्रोथ रेट को बढ़ा-चढ़ाकर पेश करने के दावे पर केंद्रीय सांख्यिकी एवं कार्यक्रम क्रियान्वयन मंत्रालय ने स्पष्टीकरण जारी किया है। मंत्रालय ने स्पष्ट किया है कि जो भी आंकड़े जारी किए गए हैं, वे मूलतः बिजली की खपत, दोपहिया वाहनों की बिक्री, वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री जैसे सूचकों के विश्लेषण पर आधारित हैं।

मंत्रालय ने कहा, ‘जीडीपी के आंकड़ों के आकलन में शामिल जटिलताओं का विवरण समय-समय पर जारी किया है। जीडीपी का आकलन एक बेहद जटिल प्रक्रिया है, जिसमें अर्थव्यवस्था के प्रदर्शन को बेहतर तरीके से मापने के लिए विभिन्न उपायों और मीट्रिक्स को आजमाया जाता है।’
अरविंद सुब्रमण्यन ने अपने ताजा रिसर्च पेपर में दावा किया है कि वित्त वर्ष 2011-12 से 2016-17 के बीच भारत का जीडीपी ग्रोथ रेट शायद 2.5 प्रतिशत तक बढ़ाकर बताया गया था। पूरी संभावना है कि उस दौरान ग्रोथ रेट 3.5 से 5.5 प्रतिशत रहा हो।

Loading...
Loading...