Home / भारत / 2030 तक 7,000 अरब डॉलर तक की होगी भारत की अर्थव्यवस्था: देबरॉय

2030 तक 7,000 अरब डॉलर तक की होगी भारत की अर्थव्यवस्था: देबरॉय

PM की आर्थिक सलाहकार परिषद (PMEAC) के अध्यक्ष बिबेक देबरॉय ने आज यह कहा कि देश की अर्थव्यवस्था आगामी 2030 तक तकरीबन 6500 से 7,000 अरब डॉलर की हो जाने का अनुमान है। वहीं 2035-40 तक यह लगभग 10,000 अरब डॉलर की हो जाएगी। उन्होंने यह कहा कि लेकिन प्रति व्यक्ति आय 2030 तक सिर्फ 4,000 अरब डॉलर रहेगी जो कई अन्य देशों से अब भी भी बहुत कम है।

बिबेक देबरॉय ने यहां स्कॉच शिखर सम्मेलन में कहा कि वर्ष 2030 तक देश की राष्ट्रीय आय तकरीबन 6,500 से 7,000 अरब डॉलर होगी। अगर विनिमय दर वही रहती है जो आज है तो देश की अर्थव्यवस्था 2035-40 तक लगभग 10,000 अरब डालर की हो जाएगी। नीति आयोग के सदस्य ने यह भी कहा, ‘‘अगर विनिमय दर बढ़ती है तो देश की अर्थव्यवस्था 2035 से पहले ही तकरीबन 10,000 अरब डॉलर की हो जाएगी।’’ उन्होंने यह कहा कि अर्थव्यवस्था का आकार बढ़ने के साथ भारत बहुत ही उल्लेखनीय रूप से एक अलग देश होगा और वैश्विक मंच पर इसकी भूमिका अत्यधिक बढ़ेगी।

देबरॉय ने यह भी साफ़ कहा कि लोग आज सरकारी नौकरी नहीं तलाश रहे, बल्कि अब अधिक से अधिक लोग दूसरे को रोजगार उपलब्ध करा रहे हैं। जमीन से जुड़े मुद्दे का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि यह एक बहुत ही जटिल मुद्दा है और भारत में इसका अकुशल तरीके से उपयोग हुआ है। देबरॉय ने कहा, ‘‘हमारे पास जमीन के स्वामित्व के संदर्भ में कोई भी स्पष्ट प्रणाली नहीं है।’’

सेबी ने खारिज की, पीएसीएल समूह की कंपनी की बैंक खाते से रोक हटाने की अपील

Loading...