Breaking News
Home / लाइफस्टाइल / जानिये कैसे घातक हो सकता है ब्रेन स्ट्रोक

जानिये कैसे घातक हो सकता है ब्रेन स्ट्रोक

ब्रेन स्ट्रोक की चपेट में आजकल युवा भी आ रहे हैं। हार्ट अटैक की तरह इसे ब्रेन अटैक भी कहा जा सकता है। यह स्ट्रोक तब होता है, जब खून के थक्के के कारण कोई नस अचानक बंद हो जाने से दिमाग के किसी हिस्से तक खून नहीं पहुंच पाता, या कोई नस फट जाने से दिमाग में खून लीक हो जाता है।

ब्रेन स्ट्रोक के कारण शरीर के किसी भी हिस्से पर असर पड़ सकता है। इसके कारण शरीर के एक तरफ के हिस्से पर लकवा हो जाता है। इसके अलावा चेहरा टेढ़ा हो जाना, चलने, बोलने व देखने की क्षमता पर असर पड़ सकता है। ब्रेन स्ट्रोक हार्ट अटैक जितना ही घातक और ‘साइलेंट किलर’ है। यह किसी को भी हो सकता है, लेकिन कुछ कारणों से इसका खतरा बढ़ जाता है, जैसे- उच्च रक्तचाप, मधुमेह, मोटापा, ज्यादा कॉलेस्ट्राल।

धूम्रपान और ज्यादा शराब इसका खतरा बढ़ाती है। वहीं, यदि परिवार में किसी को पहले यह दिक्कत हुई हो, कभी हार्ट अटैक आ चुका हो या दिल की कोई अन्य बीमारी हो, तो भी इसकी आशंका बढ़ जाती है।

स्ट्रोक के लक्षण हैं चलने में दिक्कत, बोलने में परेशानी, बहुत तेज सिरदर्द, अचानक-से लकवा, धुंधला या काला दिखाई देना, शरीर का संतुलन न बन पाना।

समय-समय पर अपने ब्लड-प्रेशर की जांच करवाते रहें। यदि परिवार में पहले-से किसी को हाई बीपी की समस्या है तो हर 6 महीने में अपनी जांच कराते रहें।

ब्लड प्रेशर ज्यादा हो तो उसे नियंत्रित रखने पर ध्यान दें। सही खान-पान और डॉक्टर की सलाह से दवा लेकर इसे नियंत्रित किया जा सकता है।

अनियमित या तेज धड़कन भी ब्रेन स्ट्रोक का कारण बन सकती है। असामान्य धड़कन की इस समस्या के कारण खून के थक्के बनने की आशंका बढ़ जाती है।

धूम्रपान के कारण खून के थक्के जम सकते हैं। तम्बाकू चबाने से भी यही दिक्कत होती है।
उम्र बढ़ने के साथ अपने खान-पान पर नियंत्रण जरूरी है। खाने में नमक, घी-तेल और मीठा कम कर दें।

Loading...
Loading...