Breaking News
Home / भारत / बिटकॉइन एक्सचेंजों पर लगा 2.5 अरब डॉलर का घोटाला करने का आरोप

बिटकॉइन एक्सचेंजों पर लगा 2.5 अरब डॉलर का घोटाला करने का आरोप

अमेरिका की दिग्गज साइबर सिक्यॉरिटी फर्म साइफर ट्रेस ने यह कहा कि साल 2009 से क्रिप्टोकरंसी एक्सचेंजों ने तकरीबन 2.5 अरब डॉलर (करीब 180 अरब रुपए) मूल्य के बिटकॉइन की लॉन्ड्रिंग की। आपको बता दे की इन क्रिप्टोकरंसी एक्सचेंजों का ठिकाना भारत से बाहर है, जो भारत से मनी लॉन्ड्रिंग को पूर्ण्तः बढ़ावा दे रहे हैं क्योंकि उन्हें प्रभावित करने वाला कोई स्पष्ट मनी लॉन्ड्रिंग विरोधी कानून अस्तित्व में नहीं है। आपको बता दे की 180 अरब रुपए में वही लेनदेन शामिल हैं जिनपर साइफर ट्रेस की सीधी नजर थी और जिसे उसने आपराधिक या अति संदेहास्पद माना है।

आपको बता दे की साइफर ट्रेस ने टॉप 20 क्रिप्टोकरंसी एक्सचेंजों के जरिए हुए लगभग 35 करोड़ के लेनदेन की पड़ताल की और तकरीबन 10 करोड़ ट्रांजैक्शंस के मिलान दूसरे पक्षों से भी किए। इन एक्सचेंजों का उपयोग आपराधिक सेवाओं के लिए तकरीबन 2 लाख 36 हजार 979 बिटकॉइन्स की खपत के लिए हुई थी। आपको बता दे की साइफर ट्रेस ने मनी लॉन्ड्रिंग के अलावा हैकिंग और क्रिप्टोकरंसीज की चोरी का भी पता लगाया।

Loading...
Loading...