Tuesday , December 10 2019
Home / भारत / अखिलेश ने कहा – गठबंधन से अंकगणित सही रखने के लिए कांग्रेस को रखा बाहर

अखिलेश ने कहा – गठबंधन से अंकगणित सही रखने के लिए कांग्रेस को रखा बाहर

धारणा यह है कि जो उत्तर प्रदेश में चुनाव जीतता है वही केंद्र में भी जीतता है। लोकसभा चुनावों के लिए समाजवादी पार्टी (एसपी) और बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) ने गठबंधन का ऐलान किया है। पर कांग्रेस इस गठबंधन का हिस्सा नहीं है। यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि चुनावी अंकगणित सही करने के लिए कांग्रेस को गठबंधन से बाहर रखा गया है। साल 2014 के आम चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने यूपी की कुल 80 सीटों में से 71 सीटों पर जीत का परचम लहराया था और एनडीए को 73 सीटें मिलीं थीं। अब एसपी-बीएसपी ने बीजेपी को रोकने के लिए हाथ मिला लिया है। 38 सीटों पर बीएसपी और 37 सीटों पर एसपी चुनाव लड़ेगी। कांग्रेस के लिए रायबरेली और अमेठी की सीट छोड़ी गई है।अखिलेश यादव ने कहा कि अ हम विधानसभा चुनाव हारे क्योंकि चुनावी अंकगणित ठीक नहीं था। इसलिए हमने बीएसपी और आरएलडी को साथ लेकर और कांग्रेस के लिए 2 सीट छोड़कर अंकगणित ठीक कर लिया है।

यूपी में कमजोर हो चुकी कांग्रेस का प्रभाव सीमित हो चुका है। इसलिए कांग्रेस के साथ गठबंधन की सूरत में कांग्रेस को ना मिलने वाला वोट बीजेपी को जा सकता है। बीजेपी पहले से ही एसपी और कांग्रेस को मुस्लिमों की पार्टी बताती रही है। कांग्रेस को इस गठबंधन से अलग रखने का कारण यह भी है कि उसके पास किसी विशेष जाति का वोटबैंक नहीं है। कांग्रेस की समर्थक ज्यादातर अगड़ी जाति और शहरी मध्यम वर्ग है, जिन्हें फ्लोटिंग वोट कहा जा सकता है. यह वोट कांग्रेस को या फिर बीजेपी को जा सकता है।गठबंधन चाहेगा कि कांग्रेस ज्यादा से ज्यादा सीटों पर बीजेपी का वोट काटे। लिहाजा यह अंकगणित गठबंधन और कांग्रेस दोनों के लिए फायदे का सौदा लग रहा है ।

Loading...
Loading...