Thursday , December 5 2019
Home / व्यापार / स्विस बैंकों से भी मिलेगी भारतीयों के कालेधन की जानकारी

स्विस बैंकों से भी मिलेगी भारतीयों के कालेधन की जानकारी

नई दिल्ली। देश से कालेधन को उजागर करने की प्रक्रिया के बाद सरकार ने स्विस बैंकों से कालेधन की जानकारी जुटाने का प्रयास कर रही हैं। विदेश में पड़े काले धन को लेकर इंडिया तथा स्विट्जरलैंड के बीच अहम करार हुआ है। स्विट्जरलैंड इंडियन लोगों के स्विस बैंक खातों से जुड़ी सूचनाओं को सितंबर 2018 से ऑटोमैटिक तरीके से साझा करने पर सहमत हो गया।

हालांकि, वह इस अवधि से पहले मौजूद खातों की गतिविधियों बारे में जानकारी नहीं साझा करेंगे जबकि इस तरह की जानकारी का पहला आदान-प्रदान सितंबर 2019 में होगा। इंडिया तथा स्विट्जरलैंड के बीच इस बाबत समझौते पर मंगलवार को हस्ताक्षर हुए। इसमें पेश साझा घोषणा पत्र के अनुसार दोनों देश ग्लोबल स्टैंडर्ड के साथ 2018 से डेटा इक_ा करना शुरू करेंगे तथा इन सूचनाओं को 2019 से आदान-प्रदान शुरू करेंगे।

स्विट्जरलैंड ने जहां सूचनाओं के ऑटोमैटिक ढंग से साझा किए जाने से जुड़े समझौते पर हस्ताक्षर कर ग्लोबल स्टैंडर्ड का पालन किया है, वहीं इंडिया ने इस डेटा की गोपनीयता सुरक्षित रखने का वादा किया है। फाइनैंस मिनिस्ट्री के बयान में कहा गया, ‘अब इंडिया के लिए सितंबर 2019 से स्विस बैंक में मौजूद उसके नागरिकों के खातों की वित्तीय जानकारी (2018 और उसके बाद के सालों का) मिल सकेगी।

इस घोषणा पत्र पर समझौते को बड़ा कदम बताते हुए रेवन्यू सेक्रटरी हसमुख अधिया ने ट्वीट किया, ‘इनकम टैक्स डिपार्टमेंट 2018 से स्विट्जरलैंड के बैंकों में मौजूद इंडियन लोगों के खातों में पड़े पैसों के बारे में जानकारी हासिल कर पाएगा। स्विस फेडरल डिपार्टमेंट ऑफ फाइनैंस ने बयान में कहा कि इंडिया के साथ संयुक्त घोषणा पत्र पर हस्ताक्षर ऑटोमेटिक एक्सचेंज ऑफ इन्फॉर्मेशन (एईओआई) के अमल को लेकर स्विट्जरलैंड की प्रतिबद्धता को जाहिर करता है। विदेश में पड़े इंडियन लोगों के काले धन को लेकर स्विट्जरलैंड हमेशा विवाद के केंद्र में रहा।

हिन्दी न्यूज एंड करेंट अफेयर्स +  व्यापार

स्पाइस जेट का शानदार ऑफर, कीजिए मात्र 737 रुपए में हवाई यात्रा

Loading...
Loading...