Home / भारत / पश्चिम बंगाल में धार्मिक स्थलों को खोलने की मिली अनुमति, 10 से अधिक श्रद्धालुओं को अनुमति नहीं

पश्चिम बंगाल में धार्मिक स्थलों को खोलने की मिली अनुमति, 10 से अधिक श्रद्धालुओं को अनुमति नहीं

कोरोना के कहर में पूरी दुनिया ठहर गई है। देश में लॉकडाउन का चौथा चरण 31 मई को समाप्त होने वाला है। लॉकडाउन में तमाम तरह की पाबंदियां में मंदिर – मस्जिद खोलने पर भी पाबंदी है। ऐसे में खबरों की गहमागहमी बढ़ गई है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आगामी 1 जून से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए राज्य में धार्मिक स्थलों को खोलने की इजाजत दे दी है।
ममता बनर्जी का कहना है कि पश्चिम बंगाल में 1 जून से धार्मिक स्थल खोले जा सकते हैं हालांकि किसी भी प्रकार की धार्मिक आयोजन की अनुमति फिलहाल नहीं दी जाएगी। यह भी स्पष्ट किया गया है कि धार्मिक स्थलों जैसे मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारे आदि में एक बार में 10 से अधिक लोगों के प्रवेश की अनुमति नहीं होगी।
 इसके अतिरिक्त ममता बनर्जी सरकार ने आगामी 8 जून से सभी सरकारी व गैर सरकारी संस्थानों को पूरी तरह छूट दे दी है। 8 जून से इनपर किसी भी तरह की पाबंदी नहीं रहेगी।
श्रमिक स्पेशल ट्रेनों को ममता बनर्जी ने बताया ‘कोरोना एक्सप्रेस’
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में तेजी से बढ़ रहे कोरोना के संक्रमण के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेनों को जिम्मेदार ठहराया है। ममता बनर्जी ने कहा कि विगत 2 महीनों में राज्य कोविड-19 को फैलने से रोकने में सफल रहा, किंतु अब श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से लौटने वाले मजदूरों की वजह से संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ने लगे हैं।
Loading...