Saturday , October 31 2020
Home / भारत / त्योहारी सीजन से पहले अमेज़न इंडिया ने अपने डिलीवरी नेटवर्क का किया विस्‍तार

त्योहारी सीजन से पहले अमेज़न इंडिया ने अपने डिलीवरी नेटवर्क का किया विस्‍तार

अमेज़न इंडिया ने आज बहुप्रतीक्षित त्योहारी सीजन से पहले अपने डिलीवरी नेटवर्क में महत्वपूर्ण विस्‍तार की घोषणा की। त्योहारी सीजन में ग्राहकों की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए कंपनी ने अपने डिलीवरी इन्फ्रास्ट्रक्चर को मजबूत बनाते हुए इसका दायरा बढ़ाया है। इसके तहत नेटवर्क में 10 हजार से भी अधिक डिलीवरी पार्टनर्स जोड़े गए हैं। कंपनी ने अपनी सीधी पहुंच बढ़ाने के लिए कई दूरदराज के उत्तरपूर्वी शहरों जैसे कि चम्फाई, कोलासिब, लुमडिंग और मोकोकचुंग के डिलीवरी स्टेशनों सहित देशभर में डिलीवरी सर्विस पार्टनर्स द्वारा संचालित लगभग 200 डिलीवरी स्टेशनों को भी शामिल किया है।

कंपनी ने अपने डिलीवरी कार्यक्रमों के साथ-साथ फ्लैगशिप प्रोग्राम ‘आई हैव स्पेस ’(IHS) को भी मजबूत किया है। इसमें अब तक 350 शहरों के करीब 28,000 से अधिक दुकानें और किराना स्टोर शामिल हो चुके हैं। ‘आई हैव स्पेस ’प्रोग्राम के तहत अमेज़न इंडिया स्थानीय स्टोर मालिकों के साथ साझेदारी करके 2 से 4 किलोमीटर के दायरे में ग्राहकों को प्रोडक्ट डिलीवर करता है। इससे वे नियमित आय को बढ़ा सकते हैं और स्टोर को बेहतर बना सकते हैं। कंपनी ने पिछले चार महीनों में ‘अमेज़न फ्लेक्स’ कार्यक्रम की पहुंच को लगभग दोगुना कर दिया है, जो अब भारत के 65 शहरों में सेवा प्रदान करता है। इस कार्यक्रम की वृद्धि का श्रेय डिलीवरी पार्टनर को दी जाने वाली फ्लैक्सिबिलिटी को जाता है, जिससे वे अपने शेड्यूल के अनुसार काम कर सकते हैं। साथ ही अमेज़न पैकेज की डिलीवरी करके प्रति घंटे 120 से 140 रुपए तक की अतिरिक्‍त कमाई कर सकते हैं।

संपर्क रहित डिलीवरी पर अधिक ध्यान केंद्रित करते हुए, अमेज़न इंडिया ने ‘सोसाइटी पिकअप पॉइंट्स ’भी बनाए हैं। यह एक डिलीवरी फॉर्मेट है, जो मुंबई, दिल्ली, बैंगलोर और हैदराबाद में ज्यादा घनत्व वाली आवासीय सोसाइटी में लोगों की जरूरतों को पूरा करता है। यह कार्यक्रम आवास परिसरों के भीतर वर्चुअल पिकअप पॉइंट और फिजिकल लोकेशन दोनों प्रदान करता है – जिनमें से ग्राहक चेकआउट के दौरान कोई भी विकल्प चुन सकते हैं। ग्राहकों की सुविधा के लिए सप्ताह के विशेष दिनों में डिलीवरी की जाती है।

अमेज़न इंडिया के लास्ट माइल ऑपरेशंस के डायरेक्टर श्री प्रकाश रोचलानी ने अपने डिलीवरी नेटवर्क के विस्तार पर टिप्पणी करते हुए कहा, “हमारे डिलीवरी कार्यक्रमों के हालिया विस्तार ने सामूहिक रूप से अमेज़न इंडिया के लक्ष्य को आगे बढ़ाने और त्योहारी सीजन से पहले तेज, सुरक्षित और निर्बाध रूप से काम करने का अनुभव प्रदान किया है। हमारा लक्ष्य देशभर के ग्राहकों को यह सुनिश्चित करना है कि इस त्योहारी सीजन में हमारे ग्राहक अपनी मनपसंद चीजों को घर बैठे आराम से प्राप्त कर सकें। हम अपने ग्राहकों और डिलीवरी पार्टनर दोनों की सुरक्षा को महत्‍व दे रहे हैं। हमने अपने डिलीवरी नेटवर्क को तैयार करने के लिए कड़ी मेहनत की है, ताकि देश के सभी हिस्सों से सुरक्षित, संपर्करहित डिलीवरी हो सके।”

भारत में अमेज़न का डिलीवरी नेटवर्क

  • अमेज़न इंडिया के पास देशभर में करीब 250 अमेज़न- संचालित डिलीवरी स्टेशन और 1500 से अधिक पार्टनर डिलीवरी स्टेशन है, जिन्हें 280 से अधिक उद्यमी संचालित करते हैं। यह सभी स्टेशन पूरे देश में डिलीवरी करने में सक्षम हैं।
  • अमेज़न इंडिया ने 65 शहरों में सेवा के लिए अब अमेज़न फ्लेक्स डिलीवरी कार्यक्रम का विस्तार किया है।
  • ‘आई हैव स्पेस ’(आईएचएस) कार्यक्रम के तहत अमेज़न इंडिया के 28,000 से अधिक रिटेल स्टोर हैं जो 350 से अधिक शहरों में अमेज़न के लिए लास्‍ट माइल डिलीवरी को पूरा करते हैं।
  • अमेज़न ईजी शिप – एक ऐसा कार्यक्रम जो देश के विभिन्न हिस्सों के विक्रेताओं को अमेज़न के वितरण नेटवर्क का लाभ उठाने में सक्षम बनाता है, इस त्योहारी सीजन में देश के 2,500 शहरों और कस्बों में 6.5 लाख से अधिक विक्रेताओं की मदद करेगा।

अमेज़न इंडिया ने अपनी साइटों पर कर्मचारियों, सहयोगियों और भागीदारों के लिए निवारक स्वास्थ्य उपायों की एक श्रृंखला को लागू किया है, जैसे कि सामाजिक सुरक्षा मानदंडों का पालन, चेहरे को ढकना और लगभग 100 अन्य उपायों के बीच दैनिक तापमान की जांच। सभी ऑर्डर बिना संपर्क डिलीवरी के माध्यम से दिए जाते हैं, जहां डिलीवरी एसोसिएट घंटी बजाता है, पैकेज को दरवाजे पर छोड़ देता है और सुरक्षा के लिए सामाजिक दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए 2 मीटर पीछे हट जाता है। इसी तरह के नो-कॉन्टैक्ट प्रोटोकॉल का भी डिलीवरी ऑर्डर पर भुगतान किया जाता है। इसके अतिरिक्‍त सभी वितरण सहयोगी नियमित रूप से अपने हाथों को साफ करते हैं, अपने वाहनों की अक्सर छुई गई सतहों को साफ करते हैं और हमेशा डिलीवरी करते समय चेहरा ढकना अनिवार्य होता है।

Loading...