Breaking News
Home / भारत / ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेनें अब हर दिन लगभग 800 एमटी लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन पूरे देश में पहुंचा रही हैं

ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेनें अब हर दिन लगभग 800 एमटी लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन पूरे देश में पहुंचा रही हैं

सभी बाधाओं से पार पाकर और नए-नए समाधान ढूंढ कर देश भर के विभिन्न राज्यों में लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन (एलएमओ) की डिलीवरी करके मरीजों को भारी राहत पहुंचाने के लिए भारतीय रेलवे की यात्रा निरंतर जारी है। भारतीय रेलवे ने अब तक देश भर के विभिन्न राज्यों में 540 से भी अधिक टैंकरों में भरकर लगभग 8700 मीट्रिक टन (एमटी) एलएमओ की डिलीवरी की है।

उल्‍लेखनीय है कि 139 ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेनें अब तक अपनी यात्राएं बाकायदा पूरी कर चुकी हैं और विभिन्‍न राज्‍यों में बड़ी राहत पहुंचाई है।

इस विज्ञप्ति के समय तक 35 टैंकरों में 475 मीट्रिक टन से भी अधिक एलएमओ को साथ लेकर 6 लोडेड ऑक्सीजन एक्सप्रेस अपनी-अपनी मंजिल की ओर जा रही थीं।

ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेनें पिछले कुछ दिनों से हर दिन लगभग 800 मीट्रिक टन एलएमओ पूरे देश में पहुंचा रही हैं।

यह भारतीय रेलवे का ही अथक प्रयास है जिसके तहत अनुरोध करने वाले राज्यों को कम से कम समय में अधिक से अधिक एलएमओ पहुंचाई जा रही है।

40 मीट्रिक टन एलएमओ के साथ पहली ऑक्सीजन एक्सप्रेस आंध्र प्रदेश के नेल्लोर पहुंच गई है।

एक ऑक्सीजन एक्सप्रेस 118 मीट्रिक टन एलएमओ को साथ लेकर केरल की ओर जा रही है, ताकि इस क्षेत्र में ऑक्सीजन की आपूर्ति बढ़ाई जा सके।

इस विज्ञप्ति के समय तक, अब तक महाराष्ट्र में 521 एमटी, उत्तर प्रदेश में लगभग 2350 एमटी, मध्य प्रदेश में 430 एमटी, हरियाणा में 1228 एमटी, तेलंगाना में 308 एमटी, राजस्थान में 40 एमटी, कर्नाटक में 361 एमटी, उत्तराखंड में 200 एमटी, तमिलनाडु में 111 एमटी, आंध्र प्रदेश में 40 एमटी और दिल्ली में 3084 एमटी से भी अधिक ऑक्सीजन विभिन्‍न टैंकरों से उतारी जा चुकी है।

नई ऑक्सीजन को मंजिल तक पहुंचाने का काम एक बहुत ही गतिशील प्रक्रिया है और संबंधित आंकड़े हर समय अपडेट होते रहते हैं। कई और लोडेड ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेनों के अभी कुछ समय बाद रात में अपनी यात्रा शुरू करने की उम्मीद है।

रेलवे ने ऑक्सीजन आपूर्ति वाले स्थानों के साथ विभिन्न मार्गों का खाका तैयार किया है और इसके साथ ही रेलवे राज्यों की किसी भी उभरती जरूरत या मांग को पूरा करने के लिए खुद को तैयार रखती है। विभिन्‍न राज्य अपने यहां एलएमओ लाने के लिए भारतीय रेलवे को टैंकर प्रदान करते हैं।

यह भी पढ़ें:

एम्स के डॉक्टरों ने कोविड-19 के हल्के लक्षण वाले मरीजों के लिए उपचार और देखभाल की जानकारी दी, जानिए यहां